नौकरी पर भारी पड़ सकती है नींद में 16 मिनट की कमी, नए शोध में खुलासा

वाशिंगटन : अगर किसी वजह से आपकी नींद पूरी नहीं हो पाए, तो इसे हल्के में मत लें। नींद में महज 16 मिनट की कमी आपकी नौकरी पर भारी पड़ सकती है। वैज्ञानिकों का कहना है कि सिर्फ 16 मिनट के फर्क से यह तय होता है कि आपका दिन तरोताजा बीतेगा या उलझन भरा।

विज्ञान पत्रिका स्लीप हेल्थ में प्रकाशित शोध में कहा गया है कि रोजाना की तय दिनचर्या से कम या ज्यादा नींद का आपके प्रदर्शन पर व्यापक असर पड़ता है। अमेरिका की यूनिवर्सिटी ऑफ साउथ फ्लोरिडा के शोधकर्ताओं का कहना है कि दिनचर्या से कम नींद लेने वालों को अगले दिन फैसले लेने में दिक्कत का सामना करना पड़ सकता है। शोध के दौरान आइटी क्षेत्र में काम कर रहे 130 स्वस्थ लोगों को शामिल किया गया था। नींद में कमी से उनके तनाव का स्तर बढ़ गया था। काम में संतुलन बनाने में भी उन्हें दिक्कत का सामना करना पड़ा।

इससे पहले एक अध्‍ययन में बताया गया था कि नियमित रूप से नींद की गोली का सेवन करने से बूढ़े लोगों में ब्लड प्रेशर (बीपी) पर इसका असर पड़ सकता है। स्पेन की ऑटोनोमा डी मैड्रिड यूनिवर्सिटी के शोधकर्ताओं के अनुसार, नींद की गोली के नियमित सेवन का संबंध बीपी की दवाओं की संख्या में वृद्धि से पाया गया है।

Back to top button