छत्तीसगढ़

इन्दिरा कला संगीत विश्वविद्यालय खैरागढ़ में ‘‘स्त्री महोत्सव’’ का आयोजन होगा

इन्दिरा कला संगीत विश्वविद्यालय, खैरागढ़ द्वारा समय समय पर भारतीय सांस्कृतिक विरासत एवं ललितकला के संरक्षण संवर्धन एवं प्रसार हेतु तथा कला एवं जनमानस के मध्य सेतु संबंध स्थापित करने हेतु ज्ञानवर्धक एवं मनोरंजन कार्यक्रमों का आयोजन किया जाता रहा है । इसी कड़ी में दक्षिण मध्य क्षेत्र सांस्कृतिक केन्द्र नागपुर, संस्कृति एवं पुरातत्व, छत्तीसगढ़ शासन, रायपुर एवं इन्दिरा कला संगीत विश्वविद्यालय, खैरागढ़ के संयुक्त तत्वावधान में दिनांक 30 एवं 31 अक्टूबर 2018 को ‘‘स्त्री महोत्सव’’ सम्पन्न होगा ।

दक्षिण मध्य क्षेत्र सांस्कृतिक केन्द्र नागपुर, संस्कृति मंत्रालय, भारत सरकार के अंतर्गत कार्यरत है । केन्द्र का उद्देष्य लोककला, आदिवासी कला, संगीत, नाटक, ललितकला एवं दृष्यकला के संरक्षण संवर्धन तथा प्रचार प्रसार करना है ।

विश्वविद्यालय एवं दक्षिण मध्य क्षेत्र सांस्कृतिक केन्द्र नागपुर तथा संस्कृति एवं पुरातत्व छत्तीसगढ़ शासन, रायपुर द्वारा आयोजित ‘‘स्त्री महोत्सव’’ का उद्देष्य भारतवर्श की प्रतिभाशाली महिला कलाकारों की कलाओं को उजागर करना तथा उनकी कला को जनमानस तक सहज सुलभ स्वरूप पहुंचाना है । विश्वविद्यालय में आयोजित ‘‘स्त्री महोत्सव’’ 2018 में अन्तर्राश्ट्रीय ख्याति प्राप्त महिला कलाकारों- चित्रांगना आगले – रेषवाल (पखावज वादन), मंजुशा पाटिल (शास्त्रीय गायन), सुचिस्मीता एवं देबोप्रिया (बांसुरी जुगलबंदी), आशा खाडीलकर (शास्त्रीय गायन) को आमंत्रित किया गया है ।

इस मोहत्सव का उद्घाटन 30 अक्टूबर 2018 को शाम 5.30 बजे इन्दिरा कला संगीत विश्वविद्यालय के कैम्पस -2 के आडिटोरियम में कुलपति प्रो. डाॅ. माण्डवी सिंह के मुख्य अतिथ्य में होगा। दिनांक 30 अक्टूबर को चित्रांगना आगले – रेषवाल इंदौर का पखावज वादन तथा मंजुशा पाटिल पूणे का शास्त्रीय गायन होगा । दिनांक 31 अक्टूबर 2018 को सुचिस्मीता एवं देबोप्रिया, मुम्बई का बांॅसुरी युगल वादन तथा कार्यक्रम का समापन आशा खाडीलकर, मुम्बई के शास्त्रीय गायन की प्रस्तुति से होगा।

विश्वविद्यालय के लिए यह हर्श का विशय है कि संस्कृति मंत्रालय भारत सरकार के अन्तर्गत संचालित दक्षिण मध्य क्षेत्र सांस्कृतिक केन्द्र, नागपुर का संयुक्त कार्यक्रम विश्वविद्यालय में सम्पन्न होगा । विश्वविद्यालय में अंतर्राश्ट्रीय स्तर के कलाकारों से सुसज्जित ‘‘स्त्री महोत्सव’’ का आयोजन दक्षिण मध्य क्षेत्र सांस्कृतिक केन्द्र, नागपुर के केन्द्र निदेषक डाॅ. दीपक खिरवडकर तथा विश्वविद्यालय की कुलपति महोदया प्रो. माण्डवी सिंह के संयुक्त प्रयास से संभव हो पाया है । कार्यक्रम के सफल आयोजन हेतु दक्षिण मध्य क्षेत्र सांस्कृतिक केन्द्र, नागपुर से श्री षशांक जी तथा विश्वविद्यालय स्तर पर डाॅ. हिमांषु विश्वरूप, विभागाध्यक्ष तंत्रीवाद्य के संयोजकत्व में विषेश तैयारी की जा रही है ।

Tags
advt