लाहौर उच्च न्यायालय ने मुम्बई आतंकवादी मामले में शरीफ को भेजा समन

शरीफ को आठ अक्टूबर को अदालत के समक्ष उपस्थित होंगे

लाहौर:

न्यायमूर्ति सैयद मजहर अली अकबर नकवी की अध्यक्षता में लाहौर उच्च न्यायालय की तीन सदस्यीय पीठ ने सोमवार को एक याचिका पर सुनवाई के दौरान पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ को आठ अक्टूबर को अदालत के समक्ष उपस्थित होने के लिए तलब किया।

याचिका में पूर्व प्रधानमंत्री पर इस बात का दावा करने के लिए कार्रवाई की मांग की गई है कि 2008 के मुम्बई आतंकवादी हमले में संलिप्त लोग पाकिस्तान के थे।

शरीफ ने मई में ‘डॉन’ को दिए साक्षात्कार में पहली बार सार्वजनिक तौर पर स्वीकार किया था कि पाकिस्तान में आतंकवादी संगठन सक्रिय है और ‘राज्येतर तत्वों’ को सीमा पार करने और मुम्बई में लोगों की ‘हत्या’ करने की अनुमति दिए जाने पर सवाल खड़े किए थे।

साक्षात्कार में उन्होंने मुम्बई आतंकवादी हमले की सुनवाई में विलम्ब की भी आलोचना की थी। न्यायमूर्ति सैयद मजहर अली अकबर नकवी की अध्यक्षता में लाहौर उच्च न्यायालय की तीन सदस्यीय पीठ ने डॉन के पत्रकार सीरिल अलमीडा को गैर जमानती वारंट जारी किया और उनका नाम एक्जिट कंट्रोल लिस्ट में डालने के आदेश दिए।

Back to top button