छत्तीसगढ़

भू-माफियाओं के हाथ लग रही हैं अब कोटवारी जमीन भी

ब्यूरो चीफ : विपुल मिश्रा

बिलासपुर//- न्यायधनी बिलासपुर में भू-माफियाओं का आतंक सर चढ़ कर बोल रहा है,जिन्हें न तो राजस्व अधिकारियों का भय है और न ही नियम कानून का,वे बेझिझक अवैध प्लाटिंग तो कर ही रहें इसके साथ ही सरकारी जमीनों पर भी धड़ल्ले से कब्जा करने पीछे नही हट रहे है,ऐसा ही एक मामला फिर प्रकाश में आया है जहां भू-माफियाओं ने कोटवार जमीन पर कब्जा कर अपना हक जमा रहे है,

मामले में मिली जानकारी के मुताबिक चांटीडीह में रहने वाली प्रार्थिया वर्तमान में लिंगियाडीह व चांटीडीह क्षेत्र की कोटवार के पद पर कार्यरत है,मंगलवार को उसने कलेक्टर,एसडीएम व तहसीलदार के समक्ष लिखित शिकायत कर सरकार की तरफ से उन्हें मिली कोटवार जमीन पर कब्जा किये हुए भू-माफियाओं से मुक्त कराने आवेदन दिया है…

लिखित शिकायत में प्रार्थीया ने बताया कि वर्तमान में वह कोटवार के पास पर कार्यरत है,उनके ससुर व पति के नाम पर राजस्व रिकॉर्ड में प.ह.न 20 लिंगियाडीह पर खसरा न.-15/23,15/27,27/2,30,4,15/68,104 एवं चांटीडीह स्थित खसरा न 39/2,94,9,116,128,432/1 इनके नाम पर दर्ज है,वही दोनो की मृत्यु पश्चात उन जमीनों पर भू-माफियाओं द्वारा कब्जा कर लिया गया है..

प्रार्थिया ने बताया कि जब उसने इसका विरोध करते हुए उनसे बात करनी चाही व अपने जमीन पर कब्जा करने की बात कही तो उनके द्वारा अपशब्द कहते हुए इनकी जमीन न होना कहते हुए वापस भेज दिया जाता है,उनका कहना है कि उक्त जमीन कोटवारी जमीन नही है,जबकि प्रार्थिया का दावा है कि वह कोटवारी जमीन है…

प्रार्थिया ने बताया कि वह विधवा हैं, और उनके 5 बच्चें है,जिनके आजीविका(भरण पोषण) के लिए उनके पास और कोई सहारा नही है,उन्होंने प्रशासन से उक्त जमीन को खाली कराने की गुहार लगाई है,जिससे वह अपना व बच्चों का जीवन यापन कर सकें,बरहाल देखना होगा कि प्रशासन आखिर कब इन्हें न्याय दिला पाती है,

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button