श्रीनगर में हुआ मुठभेड़, पत्रकार बुखारी की हत्या में शामिल लश्कर कमांडर ढेर

बुधवार सुबह मुठभेड़ में दो आतंकी मार गिराया

श्रीनगर।

श्रीनगर में बुधवार सुबह हुए आतंकियों और सुरक्षाबलों के मुठभेड़ में सुरक्षाबलों ने पत्रकार शुजात बुखारी की हत्या में शामिल लश्कर कमांडर नवीद जट्ट उर्फ हंजला समेत दो आतंकियों को मार गिराया। नवीद श्रीनगर के लाल चौक से करीब 15 किलोमीटर दूर कोठीपोरा में एक मकान में छिपा हुआ था।

उस पर 15 लाख रुपये का इनाम था। करीब तीन घंटे चली मुठभेड़ में तीन सैन्यकर्मी भी घायल हो गए। इस दौरान आतंकी ठिकाना बना मकान भी तबाह हो गया। उधर मुठभेड़स्थल पर जमा हुए आतंकी समर्थकों और सुरक्षाबलों के बीच हुई हिसक झड़पों में 15 लोग घायल हो गए।

हिसा पर उतरे लोगों ने कथित तौर पर मुठभेड़स्थल से एक आतंकी को निकाल कर सुरक्षित जगह पहुंचाया। पुलिस को अपने तंत्र से पता चला था कि नवीद जट्ट श्रीनगर के पास ही छिपा है। मंगलवार देर रात पता चला कि वह कोठीपोरा, छत्रगाम में छिपा हुआ है।

सेना की 50 राष्ट्रीय राइफल (आरआर) और राज्य पुलिस के विशेष अभियान दल ने गांव की घेराबंदी कर ली। बुधवार सुबह सुरक्षाबलों के जवानों ने गांव में तलाशी अभियान शुरू किया। करीब साढ़े छह बजे जैसे ही जवान ठिकाने के करीब पहुंचे तो आतंकियों ने गोलीबारी शुरू कर दी।

आतंकियों ने घेराबंदी तोड़कर भागने का प्रयास किया। सुरक्षाबलों के जवानों ने भी जवाबी कार्रवाई की। मुठभेड़ लगभग तीन घंटे चली। बाद में तलाशी के दौरान गोलियों से छलनी दो आतंकियों के शव मिले और हथियार बरामद किए गए। उधर नवीद की मौत की खबर फैलने के साथ ही वादी के विभिन्न इलाकों में तनाव फैल गया।

श्रीनगर, बडगाम, पुलवामा, अनंतनाग और कुलगाम के विभिन्न हिस्सों में दुकानें व अन्य व्यापारिक प्रतिष्ठान बंद हो गए। स्थिति को देखते हुए प्रशासन ने बडगाम के विभिन्न हिस्सों में इंटरनेट सेवाओं पर रोक लगाने के साथ बनिहाल-बारामुला रेल सेवा को भी बंद कर दिया।

कौन था नवीद जट्ट

पाकिस्तान में साहिवाल मुल्तान का रहने वाला नवीद 12 साल की उम्र में दारुल उलूम सलफिया बोरीबाली में इस्लाम की पढ़ाई करने गया था। 16 साल की उम्र में अक्टूबर, 2012 में अबु कासिम और अबु दुजाना के साथ कश्मीर में घुसपैठ की थी। उसने मुंबई हमलों के गुनाहगार अजमल कसाब के साथ भी कुछ दिनों तक एक कैंप में आतंकी ट्रेनिग ली थी।

नवीद ने करीब दो साल तक लाहौर के पास स्थित लश्कर के कैंप मुरीदके और उसके बाद मनेशरा में ट्रेनिग ली थी। नवीद जट्ट 2014 में शमसीपोरा (अनंतनाग, जम्मू-कश्मीर) में पकड़ा गया था। इस वर्ष छह फरवरी को उसे इलाज के लिए जेल से एसएमएचएस अस्पताल लाया गया था और वहां से अपने साथियों संग दो पुलिसकर्मियों की हत्या कर फरार हो गया था।

उसने 2014 में दो पुलिसकर्मियों को अवंतीपोरा में मौत के घाट उतार दिया था। उसने 2013 में पुलवामा में पुलिस के एएसआइ (सहायक उपनिरीक्षक) और एक सीआरपीएफ कर्मी समेत आठ सुरक्षाकर्मियों की हत्या की थी।

वहीं जून में पत्रकार शुजात बुखारी व उनके दो अंगरक्षकों की हत्या कर दी गई थी। 23 नवंबर को नवीद का करीबी आजाद अहमद दादा अन्य पांच आतंकियों के साथ मुठभेड़ में मारा गया था। दादा भी शुजात बुखारी की हत्या में शामिल था।

बड़ी कामयाबी है। लश्कर कमांडर नवीद जट्ट भी मारा गया है। हम पाकिस्तान के साथ उचित माध्यम के जरिये संपर्क कर नवीद का शव सौंपने का प्रयास करेंगे।

1
Back to top button