छत्तीसगढ़बिज़नेस

लॉकडाउन के बीच संपत्ति कर जमा करने की अंतिम तिथि 30 अप्रैल निर्धारित

तारीख में बढ़ोतरी नहीं की गई तो करदाता को अदा करना पड़ेगा अतिरिक्त ब्याज

रायपुर: कोरोना वायरस की वजह से पूरे देश में देश-प्रदेश में लगे लॉकडाउन का सभी स्तरों पर असर पड़ा है. संपत्ति कर जैसे करों पर निर्भर नगर निगम का भी बजट लॉकडाउन की वजह से गड़बड़ा गया है, क्योंकि कर की वसूली टारगेट से बहुत कम है.

वहीँ संपत्ति कर जमा करने का आज आखिरी दिन है. लेकिन लॉकडाउन की वजह से कार्यालय बंद रहने से करदाता कर अदायगी में पीछे रह गए हैं. अब अगर तारीख में बढ़ोतरी नहीं की गई तो करदाता को अतिरिक्त ब्याज अदा करना पड़ेगा.

ऐसे में निगम के जिम्मेदारों के लिए अजीबो-गरीब स्थित हो गई है, एक तरफ तारीख बढ़ाने का दबाव है, जिससे शेष करदाता बिना किसी परेशानी के कर अदा कर सकें, और दूसरा तारीख नहीं बढ़ाने पर लोगों के कदम पीछे खिंचने से कर का संग्रह कम होगा.

लॉकडाउन निगम के लिए किसी वज्रपात से कम नहीं है. इस साल कर वसूली को लेकर निगम एक्शन मूड में था. पहले तक जिन लोगों और सरकारी कार्यालय को सालों से छोड़ा दिया गया था, उन्हें इस बार नोटिस भेजा गया था. विधानसभा से लेकर महालेखाकार, बड़े-बड़े स्कूल-कॉलेज जैसे सैकड़ों संस्थानों को नोटिस थमाया था.

Tags
Back to top button
%d bloggers like this: