सावन का आखिरी सोमवार, जाने किस तरह करें जलाभिषेक

भरत सिंह :

भगवान शिव के अतिप्रिय सावन महीने के अंतिम सोमवार को सभी शिवालयों में आस्था का जनसैलाब उमड़ा हुआ है. भगवन शिव की आराधना का आज आखरी दिन है जिससे की शिव को खुश किया जा सकता है। आज के दिन ज्येष्ठा नक्षत्र और वैधृतियोग में शिव का जलाभिषेक करना अत्यंत लाभकारी होगा।

इस दिन धन और संतान की इच्छा रखने वाले लोगों को भगवान शिव की अभिषेक करना चाहिए। अभिषेक के लिए जल, दुग्ध, अक्षत काला तिल और जौ डाल कर महादेव का अभिषेक करें, और ॐ गौरिशंकराय नमः मंत्र का जाप करें।

इन चीजों से जलाभिषेक करने का होगा फायदा
भवन-वाहन के लिए दही से रुद्राभिषेक करें।
लक्ष्मी प्राप्ति के लिए गन्ने के रस से रुद्राभिषेक करें।
धन-वृद्धि के लिए शहद एवं घी से अभिषेक करें।
तीर्थ के जल से अभिषेक करने पर मोक्ष की प्राप्ति होती है एवं बाधा शांति होती है।
इत्र मिले जल से अभिषेक करने से बीमारी नष्ट होती है।
पुत्र प्राप्ति के लिए दुग्ध से और यदि संतान उत्पन्न होकर मृत पैदा हो तो गाय के दूध से रुद्राभिषेक करें। ऐसा करने पर योग्य तथा विद्वान संतान की प्राप्ति होती है।
ज्वर की शांति हेतु शीतल जल/ गंगाजल से रुद्राभिषेक करें।

शक्कर मिले दूध से अभिषेक करने पर जड़बुद्धि वाला भी विद्वान हो जाता है।
सरसों के तेल से अभिषेक करने पर शत्रु पराजित होता है।

Back to top button