सरगुजा में मीजल्स रूबेला टीकाकरण का शुभारंभ

-9 माह से 15 वर्ष आयु वर्ग के बच्चों का होगा टीकाकरण

रोशन सोनी

अम्बिकापुर.

मीजल्स रूबेला टीकाकरण अभियान का शुभारंभ आज कलेक्टर डॉ. सारांश मित्तर की उपस्थिति में अम्बिकापुर जनपद अंतर्गत आने वाले शासकीय प्राथमिकम शाला डिगमा में किया गया।

इस कार्यक्रम की शुरूवात माँ सरस्वती के छायाचित्र पर माल्यार्पण एवं दीप प्रज्जवलन के साथ की गई। कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुये कलेक्टर डॉ. सारांष मित्तर ने कहा कि मीजल्स रूबेला वायरस के अतिक्रमण से होने वाले बीमारी के बचाव हेतु 9 माह से 15 वर्ष आयु वर्ग तक के सभी बच्चों का टीकाकरण महिला एवं बाल विकास विभाग, पंचायत एवं शिक्षा विभाग के समन्वय से किया जाएगा।

उन्होंने आश्वस्त किया कि इस टीकाकरण से किसी भी प्रकार का दुष्प्रभाव नहीं होगा। उन्होंने कहा कि मैं स्वयं एक चिकित्सक हूं। अतएव यह कह सकता हूं कि यह टीकाकरण पूर्णतः सुरक्षित है। उन्होंने कहा कि टीकाकरण से छूटे हुये सभी बच्चों को स्वास्थ्य कार्यकर्ता, आंगनबाड़ी कार्यकर्ता एवं मितानिनों के द्वारा घर-घर भ्रमण कर टीकाकरण सुनिश्चित किया जाएगा।

कलेक्टर ने बताया कि शिक्षा, स्वास्थ्य, पंचायत एवं महिला बाल विकास विभाग के समस्त अधिकारियों एवं कर्मचारियों को इस अभियान का सफलतापूर्वक संचालन करने निर्देशित किया गया है।

उन्होंने कहा कि इस अभियान का उद्देश्य समाज में खसरा की बीमारी से प्रतिरोध क्षमता बढ़ाना है, ताकि बीमारी को रोका जा सके। इसलिए अभियान के दौरान सभी बच्चों को मीजल्स रूबेला टीकाकरण कराने कहा गया है।

मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी ने कहा कि मीजल्स रूबेला खसरा टीकाकरण अभियान के तहत स्वास्थ्य विभाग से 08 लोगों की जिला स्तर पर टीम गठित की गई है, जो कि समस्त विकासखण्ड में सतत् निगरानी रखेंगे।

इस अभियान के अन्तर्गत लगने वाले वैक्सिन को जिले के समस्त कोल्ड चैन प्वाईंटों में निर्धारित तापमान पर कोल्ड चैन होल्डर की निगरानी में सुरक्षित रखा गया है।

साथ ही अभियान के दौरान वैक्सिन की उपलब्धता एवं अनुपलब्धता की नियमित मॉनीटरिंग की जा रही है। अभियान के दौरान अधिकतम कव्हरेज का लक्ष्य हासिल करने के लिए अनेक हितधारकों को इस अभियान में शामिल किया गया है, टीकाकरण अभियान की प्रतिदिन समीक्षा होगी। इसके लिए जिला स्तर पर कंट्रोल रूम बनाया गया है।

इस अवसर पर संयुक्त संचालक स्वास्थ्य सेवायें डॉ. अशोक जायसवाल, मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ. एन.के.पाण्डेय, जिला शिक्षा अधिकारी संजय गुप्ता, जिला कार्यक्रम प्रबंधक डॉ.अनिता पैकरा, डॉ.आमीन फिरदौसी, डॉ.आयुष जासयवाल सहित अन्य अधिकारी एवं कर्मचारी तथा शिक्षक एवं विद्यार्थी उपस्थित थे।

Back to top button