‘सौर चरखा मिशन’ का शुभारम्भ 27 को

राष्ट्रपति रामनाथ कोविन्द करेंगे संयुक्त राष्ट्र एमएसएमई दिवस पर ‘सौर चरखा मिशन’ का शुभारंभ

नई दिल्ली : राष्ट्रपति रामनाथ कोविन्द 27 जून को संयुक्त राष्ट्र एमएसएमई दिवस पर ‘सौर चरखा मिशन’ का शुभारंभ करेंगे। यह जानकारी सूक्ष्म, लघु एवं मझौले उपक्रम (एमएसएमई) मंत्रालय की ओर से सोमवार को एक विज्ञप्ति में दी गई।

मंत्रालय ने कहा, “27 जून, 2018 को संयुक्त राष्ट्र एमएसएमई दिवस के अवसर पर राष्ट्रीय सम्मेलन ‘उद्यम संगम’ का आयोजन किया जाएगा, जिसमें राष्ट्रपति रामनाथ कोविन्द ‘सौर चरखा मिशन’ का शुभारंभ करेंगे।

इसमें 50 क्लस्टर को कवर किया जाएगा और हर क्लस्टर में 400 से 2000 कारीगरों की नियुक्ति की जाएगी। इस मिशन के लिए एमएसएमई मंत्रालय कारीगारों को 550 करोड़ रुपये की सब्सिडी वितरित करेगा। मंत्रालय की एक वेबसाइट भी लांच की जाएगी, जो प्रतिभाओं के समूह तथा प्रशिक्षित श्रम शक्ति की मांग करने वाले उपक्रमों के बीच एक सेतु का काम करेगी।

संयुक्त राष्ट्र महासभा ने छह अप्रैल, 2017 को आयोजित अपने 74वें पूर्ण अधिवेशन में सतत विकास लक्ष्यों को अर्जित करने में सूक्ष्म, लघु एवं मझौले आकार के उद्यमों के महत्व को स्वीकार करते हुए 27 जून को सूक्ष्म, लघु एवं मझौले आकार के उद्यमों का दिवस मनाये जाने की घोषणा की थी।

Back to top button