छत्तीसगढ़

दीक्षांत समारोह के रिहर्सल में शामिल होने वाली लॉ की भूतपूर्व छात्रा लापता

बिलासपुर: गुरु घासीदास विश्वविद्यालय के दीक्षांत समारोह के रिहर्सल में शामिल होने वाली लॉ की भूतपूर्व छात्रा लापता हो गई है। परिजनों ने छात्रा के अपहरण की आशंका जताई है । लॉ की भूतपूर्व छात्रा रामेश्वरी राव मराठा ने भी शनिवार शाम को होने वाले रिहर्सल में हिस्सा लिया था। शाम करीब 4:00 बजे रामेश्वरी ने परिजनों को फोन कर घर लौटने की जानकारी दी थी।

5:30 बजे तक घर नहीं लौटी

उसने बताया था कि वह नेहरू चौक तक पहुंच चुकी है और जल्द ही घर में होगी लेकिन जब वह 5:30 बजे तक घर नहीं लौटी तो चिंतित परिजनों ने उसे फिर से फोन लगाया लेकिन इससे पहले कि रामेश्वरी से बात हो पाती फोन काट दिया गया ।

परिजनों को आशंका है कि फोन को किसी दूसरे व्यक्ति द्वारा डिस्कनेक्ट किया गया है, इसलिए उन्होंने छात्रा के अपहरण की आशंका जताई है । इस मामले में परिजनों ने सिविल लाइन थाने में भी गुमशुदगी का मामला दर्ज कर दिया है। हालांकि पुलिस राष्ट्रपति के बिलासपुर प्रवास के मद्देनजर पूरी तरह व्यस्त है लेकिन इसी बीच छात्रा के अपहरण की घटना से पुलिस के भी कान खड़े हो चुके हैं।

छात्रा के परिजन सोशल मीडिया की मदद से एक तरफ रामेश्वरी की तलाश कर रहे हैं तो वहीं मुख्यमंत्री और तमाम आला अधिकारियों से भी छात्रा को ढूंढ निकालने की गुजारिश की जा रही है। जाहिर है कानून की भूतपूर्व छात्रा रामेश्वरी राव मराठा के लिए दीक्षांत समारोह बेहद महत्वपूर्ण है और वह इस अवसर को छोड़कर कहीं चली जाएगी, ऐसा मुमकिन नहीं लगता।

समारोह में अब कुछ ही घंटे शेष

वहीं शहर में हर तरफ नाकेबंदी के दौरान छात्रा का अपहरण होगा इसकी भी आशंका कम है ।मुमकिन है छात्रा अपने मर्जी से किसी के साथ गई हो या फिर यह भी संभव है कि परिजनों की आशंका ही सही हो। दीक्षांत समारोह में अब कुछ ही घंटे शेष है। इससे पहले रामेश्वरी लौटेगी यह यक्ष प्रश्न बना हुआ है ।

पुलिस फिलहाल रामेश्वरी को गुमशुदा मान रही है। उसके अपहरण होने की दिशा में ना तो जांच हो रही है और ना ही तलाश। वैसे हाईटेक इस जमाने में मोबाइल लोकेशन के आधार पर भी छात्रा की तलाश की जा सकती है, लेकिन अति व्यस्त पुलिस के पास शायद इसका भी वक्त नहीं है। वही रामेश्वरी के परिजनों का हाल बुरा है ।

वे यह सोचकर ही कांप जाते हैं कि पता नहीं रामेश्वरी कहां है, उसका क्या हाल हो रहा होगा। जिस वक्त बिलासपुर में राष्ट्रपति मौजूद हो उस वक्त अगर किसी छात्रा का अपहरण हो जाए तो बिलासपुर पुलिस के लिए इससे बड़ी शर्मनाक शायद कुछ और होगी।

Tags
Back to top button