वकील पत्नी ने करवाई थी पति टीचर की हत्या, पुलिस ने सुलझाया हत्या की गुत्थी

पुलिस ने मृतक की पत्नी और प्रेमी को किया गिरफ्तार

पटना: प्रेमी के साथ मिलकर पत्नी ने सुपारी देकर पति की हत्या करवा दी. चार लाख में हत्या की सुपारी लेने वाले दोनों शूटर गिरफ्तारी के बाद पूछताछ में ये राज उगले हैं. पुलिस मृतक की पत्नी प्रतिमा कुमारी और प्रेमी सुनील कुमार गोस्वामी को गिरफ्तार कर लिया है. दोनों से पूछताछ जारी है. दोनों ही वकील हैं.

ऐसे रची थी दोनों ने हत्या की साजिश

इस मर्डर के पीछे दो वकीलों का दिमाग था. एक था उसकी पत्नी प्रतिमा कुमारी का और दूसरा था उसके वकील प्रेमी सुनील कुमार गोस्वामी का. दोनों का काफी पुराना रिश्ता था. दोनों पटना की सिविल कोर्ट में वकालत करते थे. दोनों वकील थे, इसलिए टीचर पति को कभी उन पर शक भी नहीं हुआ. लेकिन अब दोनों ने टीचर पति को रास्ते से हटाने का सोच लिया था. इसके लिए दोनों ने साजिश रची. साजिश के तहत वकील पत्नी ने जमीन खरीदने की जिद की. इसके बाद टीचर पति मोटरसाइकिल से जमीन देखने निकला.

पत्नी भी अपनी बेटी के साथ स्कूटी पर सवार होकर उनके पीछे-पीछे आ गई. पत्नी को पहले से पता था कि पति पर हमला कहां और कब होगा. इसलिए उसने अपनी स्कूटी जानबूझकर धीरे कर ली. पति की मोटरसाइकल जैसे ही छपाक वॉटर पार्क के पास पहुंची, वैसे ही अपराधियों ने उन्हें घेरकर गोली मार दी. थोड़ी देर में पत्नी बेटी के साथ वहां पहुंच गई और रोना-धोना शुरू कर दिया. पत्नी ने पुलिस में मामला दर्ज कराया कि अपराधियों ने उनके पति की हत्या कर चार लाख रुपये लूट लिए. ये रकम उन्हें जमीन मालिक को देना था.

4 लाख में दी थी पति की सुपारी

पुलिस ने बताया कि वकील प्रेमियों ने इस काम की जिम्मेदारी कॉन्ट्रैक्ट किलर्स को दी. 4 लाख रुपये में सौदा तय हुआ था. 50 हजार रुपये एडवांस भी दे दिए गए थे. पुलिस ने जब घटना स्थल के आसपास CCTV फुटेज खंगाले, तो प्रेमी वकील सुनील भी नजर आया. बाद में पता चला कि उसका टीचर के घर आना-जाना लगा रहता था. पुलिस ने जब इस मामले में और सबूत जुटाए और कड़ाई से पूछताछ की, तो मामला खुलकर सामने आ गया. पुलिस ने इस मामले में कॉन्ट्रैक्ट किलर को बक्सर से गिरफ्तार कर लिया है

Tags
cg dpr advertisement cg dpr advertisement cg dpr advertisement
cg dpr advertisement cg dpr advertisement cg dpr advertisement

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button