जिला प्रशासन की लचर व्यवस्था, नहीं हुई कोई कार्यवाही, पटवारी से परेशान लोग

रितेश कुमार गुप्ता:

कोरबा: मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के निर्देशों के बाद भी अधिकारी-कर्मचारी किसानों की समस्याओं को लेकर गंभीर नही है, जिसके चलते किसान परेशान भटक रहे है। पसान उप -तहसील कार्यालय एवं अनुविभागीय अधिकारी, राजस्व कार्यालय के बाहर बैठे दर्जनो किसान घंटों से पटवारी का इंतजार कर रहे है।

चूँकि पटवारी मोहन राम दिवाकर अपने कार्यालय से 3 किलोमीटर की दूरी पर रहते है जिससे कि वे सप्ताह में कुछ ही दिन आते है बाकी दिन राजस्व के कार्यो का बहाना बनाकर गायब रहते है। जिसके कारण किसान रोज तहसील कार्यालय के चक्कर लगाते है की आज पटवारीसाहब मिल जाएंगे। किसान वैसे भी अनेक समस्याओं से परेशान है और पटवारी से काम कराने के लिए वह रोज किराया लगाकर आते हैं।

चूँकि ये जानकारी एवं इससे संबंधित पूर्ण जानकारी पहले भी क्लिपर टाइम के माध्यम से दी जा चुकी है किन्तु वरिष्ठ अधिकारी जिला प्रशासन भी इस और कोई ध्यान नहीं देते है ना ही किसानों के शिकायत के बाद पटवारीयो पर कोई कार्यवाही करते है, जिसके कारण किसान एवं आम लोग परेशान हैं कार्यवाही ना होने के कारण पटवारी द्वारा किसानो से पैसे मंगाने की शिकायत लगातार आ रही हैं

किस काम को लेकर करते रहे पटवारी का इंतजार

अनुविभागीय अधिकारी के कार्यालय के बाहर किसान मिश्रा ने बताया कि वे अपनी निजी जमीन शीघ्र नक्शा बटांकन सुधार कराने जनदर्शन मे कलेक्टर को आवेदन दिया। कलेक्टर साहब को उन्होंने बताया कि तहसीलदार के आदेश के बावजूद पसान पटवारी मोहन राम दीवाकर के द्वारा कई महीने बीत जाने के बाद भी नक्शा बटांकन नही किया गया

और जब किया गया तो नक्शा का बटांकन किसी अन्य स्थान पर किया गया। मामले मे कलेक्टर ने नियमानुसार कार्यवाही करने निर्देशित किया। किँतु निर्देश को एक माह बित जाने के बाद भी आज तक उस समस्या का निराकरण नही किया गया।

Back to top button