कौशिक परिवार से सीखें हौसला : कोरोना से संक्रमित होने पर भी मन को रखा मजबूत

बिल्हा कोविड सेंटर में समुचित ईलाज मिलने से कोरोना की जद से बाहर आया कौशिक परिवार

बिलासपुर : जिले में कोरोना संक्रमण से स्वस्थ होने वाले व्यक्तियों की संख्या में लगातार इजाफा हो रहा है। बिल्हा कोविड केयर सेंटर के डाॅक्टरों एवं मेडिकल की पूरी टीम कोविड मरीजों को बेहतर चिकित्सा देने में जुटी हुई है। बिल्हा विकासखण्ड के पेण्डरवा गांव में निवासरत कौशिक परिवार के पांच सदस्य इस सेंटर में समुचित ईलाज मिलने से कोरोना की जद से बाहर आ गए हैं।

कौशिक परिवार का खेती किसानी एवं किराने की दुकान से गुजर बसर होता है। इस परिवार में दस लोग हैं। इनमें से पांच लोग कोरोना से संक्रमित हो गए। जिनमें कुमारी बाई 65 वर्ष एवं उनकी बहू अनिता कौशिक 32 वर्ष एवं सुनीता कौशिक 30 वर्ष, सुनीता की दोनों बेटियां सिमरन 9 वर्ष एवं श्वेता 11 वर्ष शामिल है। इन सभी को इस सेंटर में ईलाज के लिए भर्ती किया गया था। सबसे पहले अनिता कौशिक की तबीयत खराब हुई।

लक्षण आने पर उन्होंने कोरोना की जांच कराई। जिसमें उनकी रिपोर्ट पाॅजिटिव आई। कुमारी बाई को बीपी है एवं अनिता कौशिक को थाॅयराईड की बीमारी है। बावजूद इसके सेंटर प्रबंधन की मेहनत और अपने हौसले से सभी ने कोविड की जंग जीत ली है। इन्हें 26 मई 2021 को अस्पताल से डिस्चार्ज किया गया।

कोरोना में चिकित्सकीय परामर्श के साथ मन भी मजबूत रखें तो रिकवरी का सफर आसान होता है। कलेक्टर डाॅ. सारांश मित्तर के मार्गदर्शन में बिल्हा के जनप्रतिनिधियों, एसडीएम अखिलेश साहू, अधिकारियों, क्षेत्र के व्यापारियों एवं नागरिकों के प्रयासों से यहां कोविड केयर सेंटर स्थापित किया गया है। एसडीएम कहते हैं कि मरीजों के स्वस्थ होने पर हमें खुशी मिलती है। हर मरीज के पीछे यहां के डाॅक्टर एवं नर्स काफी मेहनत कर रहे है।

Tags
Back to top button