राष्ट्रीय

जानें क्यों हिट हो गया दिल्ली में ‘बाबा का ढाबा’, जुटी सैकड़ों की भीड़

दिल को छू लेने वाली ये खबर किसी एक शख्स की नहीं बल्कि कोरोना त्रासदी झेल रहे हर उस गरीब की है।

नई दिल्ली: दिल्ली में आज बाबा का ढाबा हिट है। दरअसल दिल को छू लेने वाली ये खबर किसी एक शख्स की नहीं बल्कि कोरोना त्रासदी झेल रहे हर उस गरीब की है। जिन्हें मदद के लिए बढ़े हाथों की दरकार है। कहानी दिल्ली के मालवीय नगर में बुजर्ग दंपत्ति के ढाबे की है। 80 वर्षीय बुजुर्ग बीते तीस सालों से ये ढाबा चलाते आ रहे हैं। बुजुर्ग महिला सुबह छह बजे ही उठ जाती हैं और रात के नौ बजे तक जुटी रहती हैं। इस दुकान से कोरोना काल के पहले इनका पेट अच्छी तरह से पल रहा था। अब तो हालात ये हो गये कि लोग फटकने भी नहीं आते हैं। चार घंटे में बमुश्किल पचास रुपये की कमाई हुई।

बाबा का ढाबा पर पहुंचे एक शख्स ने जब बुजुर्ग दंपत्ति की मुश्किल को समझा तो वे फफक पड़े। रोते हुए इनका वीडियो सोशल मीडिया पर डाला गया तो बड़े बड़े सितारों का भी दिल पसीज गया। खुद सिने तारिका रवीना टंडन ने ट्वीट किया कि जो भी बाबा का ढाबा पर खाकर अपनी तस्वीर भेजेगा उसे वे प्यारा सा मैसेज भेजेंगी। फिर क्या था ढाबे पर लोगों की भीड़ जुट गई। इसके साथ ही बुजुर्ग दंपत्ति के चहरे पर मुस्कान लौट आई।

ये कहानी एक ढाबे की नहीं, बल्कि कोरोना काल में मुश्किल वक्त बिता रहे कई गरीब परिवारों की है। जिनकी कहानी मीडिया में नहीं चल पा रही है। आज वक्त की दरकार है कि इनकी मदद की जाय। लोगों की ये सकारात्मक पहल सोशल मीडिया पर खूब वायरल हो रही है। सोशल मीडिया पर अब ढाबा चलाने वाले बुजुर्ग की दो तस्वीरें वायरल हो रही हैं। एक में बुजुर्ग रो रहे हैं तो दूसरे में उनके चेहरे पर खिली मुस्कान नजर आती है।

ये कमाल सोशल मीडिया की ताकत का है। साथ ही क्रेडिट उन लोगों को जाता है जो गरीबों के लिए दिल में थोड़ी जगह रखते हैं। अभियान के तहत लोग बुज़ुर्ग दंपती की मदद कर रहे हैं। वसुंधरा तन्खा शर्मा ने वीडियो ट्वीट करते हुए लिखा, “इस वीडियो से उन्हें भारी पीड़ा हुई है. दिल्ली वालों अगर आपको मौक़ा मिले तो बाबा का ढाबा पर जाओ और खाना खाओ.”

वीडियो ट्विटर पर जल्दी ही वायरल हुआ और टॉप ट्रेंड्स में शामिल हो गया। क्या आम और क्या ख़ास… कई लोग बुज़ुर्ग दंपती की मदद करने के लिए सोशल मीडिया पर आ गए। अभिनेत्री स्वरा भास्कर ने ट्वीट किया, “ट्विटर भला भी कर सकता है!”

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button