व्याख्याता भर्ती: हाइकोर्ट के अंतिम निर्णय के बाद ही मिलेगी नियुक्ति

रायपुर. प्रदेश में रेगुलर व्याख्याता की भर्ती प्रक्रिया शुरू हो चुकी है. परीक्षा संचालित करने के बाद व्यापमं ने रिजल्ट भी जारी कर दिया है और अब इसके बाद लोक शिक्षण संचनालय ने अगली प्रक्रिया शुरू करते हुए चयनित अभ्यर्थियों के दस्तावेज परीक्षण की तिथि भी घोषित कर दी है.

जो परीक्षार्थी चयनित हुए हैं उनके दस्तावेजों का सत्यापन डाइट शंकर नगर रायपुर में 4 नवंबर से 11 नवंबर के बीच किया जाएगा और इसके लिए अधिकारी और कर्मचारियों को जिम्मेदारी भी दे दी गई है दस्तावेज सत्यापन प्रभारी समिति के प्रमुख उपसंचालक आरपी आदित्य, उपसंचालक ए एस नेताम और सहायक संचालक अशोक नारायण बंजारा को बनाया गया है इसके साथ ही साथ सत्यापन के लिए अलग-अलग टेबल भी बनाए गए हैं ताकि सत्यापन के लिए आने वाले अभ्यर्थियों को कोई परेशानी न हो.

अब दस्तावेजों का परीक्षण

अभी फिलहाल भर्ती प्रक्रिया को आगे बढ़ाते हुए चयनित अभ्यार्थियों का लोक शिक्षण संचालनालय द्वारा सत्यापन कराया जा रहा है ताकि प्रक्रिया सुचारू रूप से आगे बढ़ सके। लेकिन इसका मतलब यह नहीं है कि दस्तावेज सत्यापन होते ही चयनित अभ्यर्थियों को नौकरी मिल जाएगी, इसमें अभी उच्च न्यायालय में दायर हुए याचिकाओं का पेच फंसा रहेगा. गौरतलब है कि अलग-अलग विषयों को लेकर नई भर्ती के खिलाफ 6 याचिकाएं दायर हैं जिसमें भर्ती अधिनियम में विसंगतियों को लेकर अपील की गई है। इसमें प्रमुख रूप से भविष्य में होने वाले प्रमोशन और पहले से सेवा दे रहे शिक्षाकर्मियों के भविष्य को लेकर सवाल उठाए गए हैं.

उच्च न्यायालय ने न केवल याचिका को स्वीकार किया है बल्कि पहली ही पेशी में इस बात का भी निर्णय दिया था की भर्ती परीक्षा उच्च न्यायालय के अंतिम निर्णय के अधीन रहेगी जिसका सीधा मतलब है कि जब तक उच्च न्यायालय याचिका में अपना अंतिम निर्णय नहीं सुनाती है तब तक नियुक्ति नहीं हो सकती.

याचिका को स्वीकार करते ही उच्च न्यायालय की तरफ से सरकार को नोटिस भी जारी हुआ कल पेशी के बाद ले देकर पिछले महीने ही सरकार ने अपना जवाब पेश किया है और उसके बाद याचिकाकर्ताओं ने भी जवाब के खिलाफ अपना रिजॉइंडर पेश कर दिया है अब अगली सुनवाई 18 नवंबर को होनी है जिस पर सभी की निगाहें लगी हुई है यदि याचिका पर कोई निर्णय आता है तभी आगे की राह आसान हो सकेगी वरना केस का फैसला याचिकाकर्ताओं के हक में आए या फिर फिर डेट बढ़े दोनों कंडीशन में भर्ती प्रक्रिया पर तलवार लटकी रहेगी.

Back to top button