परमबीर सिंह के नाम से आया पत्र आधिकारिक ई मेल आईडी से नहीं: सीएमओ

परमबीर सिंह ने सीधा मुख्यमंत्री को पत्र लिख कर आरोप लगाया

नई दिल्ली:25 फरवरी को उद्योगपति मुकेश अंबानी के आवास के पास स्कॉर्पियों में विस्फोटक मिला था. वहीँ स्कॉर्पियों में मिली विस्फोटक कार प्रकरण और उस कार के मालिक मनसुख हिरेन की मौत के मामले ने महाराष्ट्र की राजनीति में भूचाल ला दिया है.

इस मामले में जांच अधिकारी सचिन वाजे के ही गिरफ्तार हो जाने के बाद जब मुंबई पुलिस विभाग पर सवाल उठे तो तत्कालीन पुलिस आयुक्त परमबीर सिंह का तबादला कर दिया गया.

शनिवार को परमबीर सिंह ने सीधा मुख्यमंत्री को पत्र लिख कर आरोप लगाया कि गृहमंत्री अनिल देशमुख ने निलंबित पुलिस अधिकारी सचिन वाजे को हर महीने 100 करोड़ रुपए होटल, रेस्टॉरेंट्स और बार से वसूली कर के लाने का टारगेट दिया था. लेकिन अब सीएमओ की तरफ से इसपर एक बड़ा खुलासा हुआ है.

सीएम ऑफिस से यह खुलासा किया गया है कि परमबीर सिंह के नाम से जो पत्र आया वो आधिकारिक ई मेल आईडी से नहीं आया है. ना ही वो पत्र स्वाक्षरित है. यानी उस पत्र में भेजने वाला का हस्ताक्षर नहीं है. यह पत्र व्यक्गित ई मेल आईडी से आया है. इसलिए इस मेल द्वारा लिखे गए पत्र की जांच जरूरी है.

मुख्यमंत्री कार्यालय के खुलासे में लिखा है कि आज (शनिवार) दोपहर 4.37 बजे होम गार्ड के कमांडेंट जनरल परमबीर सिंह के नाम से मुख्यमंत्री सचिवालय को पत्र मिला है. उस पत्र में [email protected] आईडी दी हुई है. यानी सिर्फ नाम लिखा है. जबकि मुख्यमंत्री कार्यालय में परमबीर सिंह की आधिकारिक ई मेल आईडी [email protected] नाम से दर्ज है.

यह पत्र आईपीएस परमबीर सिंह द्वारा स्वहस्ताक्षरित भी नहीं है. इसलिए आज मिले इस पत्र की जांच जरूरी है. गृह विभाग की तरफ से परमबीर सिंह से संपर्क साधने की भी कोशिश की जा रही है. ऐसा मुख्यमंत्री कार्यालय से स्पष्ट किया गया है.

Tags
cg dpr advertisement cg dpr advertisement cg dpr advertisement
cg dpr advertisement cg dpr advertisement cg dpr advertisement

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button