प्रमुख सचिव अमन सिंह पर कार्रवाई के खिलाफ पीएम कार्यालय से भेजा गया पत्र

दिल्ली की द्वारका में रहने वाले विजया मिश्रा ने 4 जनवरी 2019 में प्रधानमंत्री कार्यालय में ईमेल के जरिए अमन कुमार सिंह के खिलाफ शिकायत दर्ज कराई है

रायपुर। पूर्व मुख्यमंत्री के प्रमुख सचिव रहे अमन कुमार सिंह के खिलाफ प्रपधानमंत्री कार्यालय में शिकायत की गई। शिकायत के बाद राज्य शासन को कार्यवाही के लिए पत्र भेजा गया है.यह पत्र 16 तारीख को मुख्य सचिव को भेजा गया। इसमें कहा गया है कि समुचित कार्यवाही कर अवगत कराया जाएं.

दिल्ली की द्वारका में रहने वाले विजया मिश्रा ने 4 जनवरी 2019 में प्रधानमंत्री कार्यालय में ईमेल के जरिए अमन कुमार सिंह के खिलाफ शिकायत दर्ज कराई थी. उन्होंने दस्तावेजों के प्रमाण के आधार पर कई गंभीर आरोप लगाते हुए जांच की मांग की है. शिकायत में पूर्व गृहमंत्री ननकीराम कंवर के प्रधानमंत्री को लिखे शिकायती पत्रों का भी संदर्भ है.

मिश्रा ने कहा है कि आईआरएस से वीआरएस लेने के बाद अमन कुमार सिंह ने संविदा नियुक्ति के दौरान यह तथ्य छिपाया था कि उनके खिलाफ किसी भी तरह की जांच पेंडिंग नहीं है,

जबकि छत्तीसगढ़ में डेपुटेशन से पहले 2001-02 में कस्टम एंड सेंट्रल एक्साइज डिपार्टेमेंट के बैगलोर में डिप्टी कमिश्नर रहते हुए उनके खिलाफ भ्रष्टाचार से जुड़े एक मामले में जांच की गई थी।

4 जून 2009 को मिले आरटीआई दस्तावेजों के आधार पर मिश्रा ने अपनी शिकायत में बताया है कि अमन कुमार सिंह के खिलाफ चल रहा मामला अब भी पेंडिंग है, जिस वक्त उनके खिलाफ जांच चल रही थी, वह छत्तीसगढ़ में डेपुटेशन पर काम कर रहे थे. बाद में साल 2010 में उन्होंने इंडियन रिवेन्यू सर्विसेज से इस्तीफा दे दिया.

सिंह को सचिव पद पर दी थी संविदा नियुक्ति

मिश्रा ने कहा है कि 9 फरवरी 2010 को छत्तीसगढ़ सरकार ने नोटशीट जारी कर अमन कुमार सिंह को सचिव पद पर संविदा नियुक्ति दी थी. बाद में उन्हें प्रमुख सचिव के रूप में पदोन्नति दी गई।

हालांकि दस्तावेजों के परीक्षण में इस मामले को लेकर मिनिस्ट्री आफ होम अफेयर्स को भेजे गए अपने स्पष्टीकरण में अमन कुमार सिंह ने तमाम आरोपों से इनकार किया है.

13 दिसंबर 2017 को भेजे गए पत्र के पैरा नंबर 5 में अमन सिंह ने अपने खिलाफ किसी भी तरह की सीबीआई या कोई दूसरी जांच एजेंसी की ओर से की जा रही कार्यवाही का खंडन किया है.

advt
Back to top button