डाक्टरों की कमी पूरी करने स्वास्थ्य मंत्री को पत्र – विनोद तिवारी

15 दिन में डाक्टरों की कमी पूरी न होने पे आंदोलन की चेतावनी

प्रदेश में चरमराई चिकित्सा व्यवस्था व्यापक पैमाने पर हो रहा भ्रष्टाचार
प्रदेश में सरकारी डाक्टरों की कमी से हो रही मौतें सरकार मौन

रायपुर : युवा जनता कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष विनोद तिवारी ने बताया की राज्य की भ्रष्ट सरकार व स्वास्थ्य मंत्री श्री अजय चंद्राकर के कार्यकाल में प्रदेश की स्वास्थ्य व्यवस्था चरमरा गई है ।

प्रदेश के चिकित्सा महाविद्यालयों में जीरो ईयर और मान्यता न मिलने की नौबत आ गयी है । प्रदेश के सरकारी अस्पतालों में डॉक्टर्स की भारी कमी है राजधानी सहित प्रदेश के सभी जिलो में हालात काबू से बाहर हैं और ऐसे में रिलाएंस कंपनी के कारण स्मार्ट कार्ड से प्राइवेट हॉस्पिटल्स में इलाज भी बंद कर दिया गया है।
छत्तीसगढ़ मेडिकल सर्विसेज कारपोरेशन में भ्रस्टाचार के चलते जरूरी दवाइयों की कमी हो गयी है गैर जरूरी दवाओं के जरूरत से ज्यादा खरीदे गए एक्सपायरी स्टॉक को नष्ट करने की निविदा नही की जा सकी है।

DKS सुपर स्पेशलिटी हॉस्पिटल खुलने से पहले भ्रस्टाचार और विवादों के चलते खुलने से पूर्व ही दम तोड़ रहा है । 108 ambulance सेवा भी केवल दिखावा बन कर रह गयी है। प्रदेश की जनता को अच्छी स्वास्थ्य सेवा डाक्टरों की कमी पूरी कराने स्वास्थ्य मंत्री को कुम्भकर्णी नींद से जगाने व मंत्री जी को उनके कर्तव्यों का अहसास दिलाने 4 सुत्रीय माँगो पर तत्काल कार्यवाही की मांग को लेकर स्वास्थ्य मंत्री को पत्र लिख कार्यवाही की माँग की । पत्र में की गई माँगे

1. प्रदेश के सभी सरकारी अस्पतालों में तुरंत डाक्टरों की नियुक्ति की जाए ताकि डाक्टरों की कमी पूरी हो और प्रदेश में डाक्टरों की कमी से होने वाली मौतों का सिलसिला थमे

2. राज्य के समस्त मेडिकल कॉलेज में रिक्त पदों पर प्राध्यापकों और सहायक प्राध्यापकों की नियुक्ति की जाए ताकि कलेजो की मान्यता बरकरार रखी जा सके।

3. Reliance Insurence company को ब्लैक लिस्ट करते हुए RSBY और MSBY में प्रति व्यक्ति 5 लाख तक कि चिकित्सा स्मार्ट कार्ड के माध्यम से मुफ्त में कराई जाए reliance के द्वारा हॉस्पिटलो के बिलों का भुगतान नही किया जा रहा है जिससे इलाज का काम बाधित हो रहा है

4. 108 एम्बुलेंस सेवा का संचालन करने वाली GVK कंपनी को ब्लैक लिस्ट करते हुए जल्द एम्बुलेंस के संचालन के लिए नई निविदा बुलाई जाए क्यूँकि 3 बार एम्बुलेंस का कार्य बाधित हो चुका है जो की निविदा की शर्तों का उल्लंघन है एम्बुलेंस कर्मचारियों को समय पे वेतान भी नही मिल पा रहा है

कुछ माह पूर्व स्वास्थ्य मंत्री अजय चंद्राकर ने स्वयं ये बयान दिया था की प्रदेश में डाक्टरों की कमी है जबकि वो स्वयं स्वास्थ्य मंत्री है मानव जीवन के लियें सबसे ज़रूरी विभाग इनके पास है और इनका ये कहना की डाक्टरों की कमी है कितना शर्मनाक बयान है इसका मतलब ये है की डाक्टरों की कमी मंत्री जी के संज्ञान में होते हुए भी मंत्री जी अपने ज़िम्मेदारी का निर्वाहन नही किया अस्पताल में हो रही लोगों को मौतो के लियें मंत्री जी ज़िम्मेदार है

विनोद तिवारी ने चेतावनी देते हुए कहा है की 15 दिन के अंदर इन चारों मांगों पर कार्यवाही नही होने पर प्रदेश भर में युवा जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़ द्वारा प्रदर्शन किया जाएगा स्वास्थ्य मंत्री व मुख्यमंत्री का पुतला दहन का किया जावेगा पूरे प्रदेश में धरना दिया जावेगा स्वास्थ्य मंत्री मुख्यमंत्री का घेराव किया जायेगा आंदोलन संगठित कर विरोध पूरे प्रदेश में किया जाएगा

Back to top button