छत्तीसगढ़

विद्यार्थी विद्या अध्ययन कर माता-पिता एवं स्कूलों का नाम रोशन करें

नवप्रवेशी बच्चों को तिलक लगाकर और माला पहनाकर किया गया स्वागत, 59 विद्यार्थियों को गणवेश व पाठ्य पुस्तक वितरित जिला स्तरीय शाला प्रवेश उत्सव का हुआ आयोजन

– मनीष शर्मा

मुंगेली : शिक्षा विभाग द्वारा शासकीय बीआरसाव उच्चतर माध्यमिक विद्यालय स्थित पं. शिवकुमार पाठक सभाकक्ष मुंगेली में जिला स्तरीय शाला प्रवेश उत्सव का आयोजन किया गया। अतिथियों एवं शिक्षकों द्वारा नवप्रवेशी बच्चों को तिलक लगाकर और माला पहनाकर स्वागत किया गया। शाला प्रवेश उत्सव के दौरान 59 विद्यार्थियों को गणवेश और पाठ्य पुस्तक वितरित किये गये।

इस अवसर पर जिला पंचायत की अध्यक्ष कृष्णा बघेल ने नवप्रवेशी बच्चों को शुभकामनाएं देते हुए कहा कि विद्या अध्ययन कर माता-पिता एवं स्कूलों का नाम रोशन करें। उन्होने शिक्षकों से कहा कि बच्चों का भविष्य निखारने का कार्य करें। माता-पिता एवं गुरूओं के आशीर्वाद से बच्चे आगे बढ़ते है। बच्चे अच्छी शिक्षा प्राप्त कर प्रशासनिक अधिकारी, डॉक्टर, इंजीनियर बनें।

कार्यक्रम की अध्यक्षता करते हुए आत्मा सिंह क्षत्रिय ने कहा कि शासकीय बीआरसाव स्कूल में मैं भी पढ़ा हूं। विद्यार्थी अनुशासन का पालन करते हुए आगे बढ़े तथा अपना भविष्य बनायें। राकेश पात्रे ने नवप्रवेशी बच्चों को शुभकामनाएं देते हुए कहा कि मन लगाकर पढ़ाई करें तथा अपने माता-पिता का नाम रोशन करें। उन्होने मुख्यमंत्री द्वारा प्रेषित पत्र का वाचन भी किया।

जिला शिक्षा अधिकारी जीपी भारद्वाज ने स्वागत भाषण देते हुए कहा कि नवप्रवेशी बच्चों का स्वागत करने गणवेश और पुस्तक वितरण करने के लिए जिला स्तरीय शाला प्रवेश उत्सव का आयोजन किया गया है। उन्होने सूचना के अधिकार के तहत अनिवार्य शिक्षा के संबंध में जानकारी दी। जिला पंचायत सदस्य उर्मिला यादव ने भी संबोधित किया।

इस मौके पर अपर कलेक्टर राजेश नशीने, शासकीय बीआरसाव उ.मा. विद्यालय के प्राचार्य एसडी बंजारे, खण्ड शिक्षा अधिकारी प्रतिभा मण्डलोई, परियोजना समन्वयक एसके अम्बष्ट, सहायक परियोजना समन्वयक वीपी सिंह, पीसी दिव्य, सहायक परियोजना अधिकारी अजय नाथ, लोक शिक्षा समिति के जिला परियोजना समन्वयक डॉ. आईपी यादव, संजय यादव सहित अन्य जनप्रतिनिधि, शिक्षक-शिक्षिकाएं एवं विद्यार्थीगण उपस्थित थे।

Tags
Back to top button