‘लिंगोदेव पथ’ मार्ग लाएगा विकास की बयार : मरकाम

रायपुर : इस अवसर पर विधायक मोहन मरकाम ने कहा कि वर्षो से रोड कनेक्टिविटी के अभाव में इस क्षेत्र में आतंक का माहौल था जिसके चलते बाहरी दुनिया तो क्या स्थानीय ग्रामीण अधिकारी-कर्मचारी भी इन क्षेत्रों में आने से कतराते थे। परंतु अब राज्य शासन के नई नीतियो की बदौलत अब यहां बदलाव का दौर प्रारंभ हो गया है।

प्रदेश के मुख्यमंत्री के द्वारा दिये गये चार मूलमंत्र शांति, सुरक्षा, विश्वास और विकास का साकार रूप यहां देखने को मिला है। इस 150 किलोमीटर नवनिर्मित सड़क के निर्माण से क्षेत्र के 180 ग्राम सीधे मुख्यमार्ग से जुड़ जाएंगे और लगभग एक लाख की जनसंख्या इससे लाभान्वित होगी।

इसके साथ ही उन्होंने इस रोड निर्माण से जुड़े सभी जनप्रतिनिधियांे, ग्रामीणों अधिकारियों कर्मचारियों को बधाई भी दी।

इस दौरान क्षेत्र के विधायक चदंन कश्यप, सांसद बस्तर दीपक बैज और जिला पंचायत अध्यक्ष देवचन्द मातलाम ने अपने संबोधन मे भी इस नवनिर्मित सड़क निर्माण तथा इस परिप्रेक्ष्य मे आयोजित बाईक रैली के लिए लोगो को अशेष शुभकामनाएं दिए।

इसके पूर्व ग्राम मर्दापाल के पंचायत भवन मे आयोजित इस कार्यक्रम मे स्थानीय ग्रामीणांे ने पुष्प वर्षा करके बाईक रैली मे शामिल होने वाले सभी प्रतिभागियांे का अभूतपूर्व अभिनदंन किया और लोक नर्तक दलांे के नृत्य और गायन से समुचा माहौल एक उत्सव के रूप मे बदल दिया।

कलेक्टर नीलकण्ठ टीकाम ने इस मौके पर बताया कि इस ऐतिहासिक बाईक रैली को ’’पुनांग हर्री त पण्डुम (नवीन सड़क निर्माण का उत्सव) नाम दिया गया है चूंकि लिंगोदेव स्थानीय आदिवासियो के आराध्य देव कहलाते है अतः ग्राम मर्दापाल से खालेमुरवेण्ड तक इस 150 कि0मी0 तक सड़क को इस आराध्य देव को समर्पित किया गया है।

आने वाले समय मे यह क्षेत्र जिला दंतेवाड़ा से सीधे कांकेर जिले तक एक समान्तर सड़क के रूप मे विकसित हो जायेगा और क्षेत्र की भूराजनैतिक सुरक्षा और अर्थव्यवस्था को नया आयाम प्राप्त होगा इसके अलाव इस क्षेत्र मे छठवीं और सातवी शताब्दी की सांस्कृतिक और ऐतिहासिक धरोंहरे भी है। इस सबकी विरासत को सहेजने और पर्यटन क्षेत्र के रूप में लिंगोदेव मार्ग की एक बड़ी भूमिका होगी।

इसके साथ ही बाईक रैली का एक उदेश्य ग्रामीणो को विकास की डोर से बाधंना भी ताकि क्षेत्र के युवाओ को एक नई दिशा दी जा सके। रैली के दौरान सभी मार्गो मे सुरक्षा व्यवस्था की गई है और जगह-जगह ग्रामों में रैली के स्वागत हेतु भव्य प्रवेश द्वार बनाये गये है इसके अलावा प्रत्येक ग्रामो मे जलपान और पेयजल की व्यवस्था भी की गई।

Tags
Back to top button