छत्तीसगढ़: भीड़ द्वारा ईसाइयों पर हमला करने का आरोप, चर्च में घुसकर पीटा, महिलाओं को छेड़ा

छत्तीसगढ़ में भीड़ द्वारा ईसाइयों पर हमला करने का आरोप लगा है। कथित घटना से जुड़ी वीडियो और फोटोज फेसबुक यूजर अरुण पांचाल ने शेयर किया है।

अपनी फेसबुक पोस्ट में उन्होंने स्थानीय हिंदू पर ईसाईयों पर हमला करने और उनकी संपत्ति को नुकसान पहुंचाने का आरोप लगाया है। पोस्ट में उन्होंने लिखा, 5 अक्टूबर 2017 को दोपहर, गांव सरपंच, उप-सरपंच, सरपंच, पंचायत सचिव और अध्यक्ष जनपद पंचायत, केट-कल्याण, ने ग्रामीणों को, ईसाईयो से मार पीट करने के लिए उसकाया।

ग्राम सामुदायिक भवन में 250 ग्रामीणों की भीड़ इकट्ठी को इकट्ठा किया। पूरे हमले की योजना बनाई। भीड़ आक्रामक थी और आयोजकों द्वारा इसाईयो को मारने पीटने के लिए के लिए लगातार प्रोत्साहित कर रहे थे। उन्होंने आगे लिखा, चर्च में प्रथना कर रहे लोगों को सामुदायिक भवन में आने का आदेश दिया। ईसाईयों से उनकी आस्था को छोड़ने को धमकाया गया। और इसी वक्त हिंदू धर्म को स्वीकार करने के लिए कहा गया।

किसी भी धर्म में विश्वास करने के संवैधानिक अधिकार के बारे में सरपंच को बताया। तथा उन्होंने हिंदू धर्म को अपनाने से इनकार कर दिया। सामुदायिक भवन के पास कुछ इसाईयो को मारा पीटा गया, वीडियो सबूत है।

उन्होंने कहा, गांव वालों ने चर्च,मे धुस कर मारा पीटा, छेड़छाड़ महिलाओं से की, क्रिश्चियन विश्वासीयो से दुर्व्यवहार किया, सार्वजनिक ध्वनि विस्तार यंत्रो को जला दिया, संगीत, वाद्य यंत्रों को तोड़ दिया, महिलाओ के कपड़े फाड़ कर निरवस्तत्र करने का प्रयास किया।

पुरुषों और बच्चों को लघु लुहान किया, और हड्डिया भी टूटी। वे अस्पताल में भर्ती हैं पुलिस ने एफआईआर को बुक किया है, और ईसाईयों के खिलाफ भी एस आई आर किया है, गिरफ्तारी कभी भी हो सकती है।

advt
Back to top button