छत्तीसगढ़मध्यप्रदेशराज्यराष्ट्रीय

राजस्थान से होकर मध्य प्रदेश पहुंची टिड्डियों ने छत्तीसगढ़ में बोला हमला

राजधानी लखनऊ में भी आने की आशंका के चलते निगरानी तंत्र सक्रिय

नई दिल्ली: छत्तीसगढ़ में राजनांदगांव जिले की सीमा में प्रवेश करने के बाद टिड्डियाँ रात भर पहाड़ी पर डेरा जमाए रहीं। अलबत्ता, ग्रामीणों व कृषि के साथ ही वन विभाग की टीमों ने किसी तरह इनको भगाया। टिड्डियों को लेकर यूपी के कई गांवों में भी अलर्ट जारी कर दिया गया है।

राजस्‍थान से फ‍िर हुए दाखिल

नीमच जिले में चौथे दिन बुधवार को भी राजस्थान से गर्म हवाओं के साथ टिड्डी दल जिले में प्रवेश कर गए। हजारों की संख्या में टिड्डियां राजस्थान से अरनिया, नयागांव, धारड़ी, बड़ी, देवपुरा, फुसरिया, पटियाल पंचायत में पहुंच गईं। इस बीच अनूपपुर के पुष्पराजगढ़ क्षेत्र के हर्री, अमदरी, तरंग एवं पयारी गांव में बुधवार को लोगों ने टिड्डी दल को खदेड़कर जिले की सीमा से बाहर कर दिया गया है।

शहर के भीतर दाखिल

मध्‍य प्रदेश के दमोह जिले में फसलों को नुकसान पहुंचाने के बाद टिड्डी दल ग्रामीण क्षेत्रों से होता हुआ शहर के अंदर प्रवेश कर गया। लोगों ने जैसे ही अपने छतों और खुले मैदान में एक साथ लाखों टिड्डियों को देखा तो वे दंग रह गए। इसके बाद थालियां बजाकर उनको एक स्थान पर बैठने नहीं दिया गया।

राजनांदगांव में शोर कर भगाया

मध्य प्रदेश से होकर राजनांदगांव जिले की सीमा साल्हेवारा में प्रवेश के बाद रात भर पहाड़ी पर डेरा जमाए रहे टिड्डी दल को ग्रामीण, कृषि और वन विभाग की टीम ने ढोल बजाकर भगा दिया। टिड्डियों को भगाने के लिए फायर ब्रिगेड और स्प्रेयर मशीनों से कीटनाशक का छिड़काव भी किया गया और आतिशबाजी भी की गई। राजनांदगांव कलेक्टर टीके वर्मा ने बताया कि टिड्डी दल का जमावड़ा अब कवर्धा जिले में है। इनकी वापसी का भी अंदेशा बना हुआ है। इस कारण लगातार निगरानी की जा रही है।

यूपी में मचाई हलचल

उत्‍तर प्रदेश में हमीरपुर की ओर रुख कर चुका टिड्डी दल बुधवार को बांदा और चित्रकूट के आसपास मंडराता रहा। झांसी, हमीरपुर और सोनभद्र के साथ सूबे के सीमावर्ती जिलों में हाई अलर्ट कर दिया गया है। राजधानी लखनऊ में भी आने की आशंका के चलते निगरानी तंत्र सक्रिय हो गया है।

बताया जाता है कि टिड्डी दल के छोटे होने की वजह से इन्हें नियंत्रित करने में केंद्रीय कीटनाशी प्रबंध संस्थान के अधिकारियों को परेशानी आ रही है। फायर ब्रिगेड को भी अलर्ट में रहने के निर्देश दिए गए हैं।

Tags
Back to top button