लोक सभा निर्वाचन-2019 नारायणपुर जिले में आदर्श आचार संहिता प्रभावशील संसदीय क्षेत्र बस्तर में 11 अप्रैल को मतदान

कलेक्टर एवं निर्वाचन अधिकारी पी.एस. एल्मा ने ली पत्रकार वार्ता जिले के 17 संवेदनशील मतदान केन्द्रों को स्थानांतरित करने का प्रस्ताव

नारायणपुर: भारत निर्वाचन आयोग द्वारा रविवार शाम को लोकसभा निर्वाचन 2019 की तारीखों की ऐलान के साथ ही नारायणपुर जिले में आदर्श आचार संहिता प्रभावशील हो गई है। कलेक्टर एवं जिला निर्वाचन अधिकारी पी.एस. एल्मा ने रविवार देर शाम जिले के प्रिंट एवं इलेक्ट्रानिक मीडिया प्रतिनिधियों की प्रेस कॉन्फ्रेंस लेकर लोकसभा निर्वाचन 2019 के भारत निर्वाचन आयोग द्वारा जारी कार्यक्रमों, महत्वपूर्ण दिशा-निर्देशों की जानकारी दी गई। एल्मा ने मीडिया का बताया कि जिले में लोकसभा निर्वाचन शांति और निविघ्न, निष्पक्ष कराने हेतु के लिए सभी तैयारियां पूरी हो गई है।

उन्होंने कहा कि जिले के सभी सरकारी अधिकारियों को निर्वाचन आयोग द्वारा जारी आदर्श आचरण संहिता पालन सुनिश्चित करने के निर्देश दिये गये है। इस अवसर पर अनुविभागीय दण्डाधिकारी राजस्व भूपेन्द्र साहू, उपजिला निर्वाचन अधिकारी गौरीशंकर नाग उपस्थित थे। कलेक्टर एवं जिला निर्वाचन अधिकारी पी.एस. एल्मा ने बताया कि भारत निर्वाचन आयोग कार्यक्रम के अनुसार संसदीय क्षेत्र बस्तर में मतदान तीसरे चरण में गुरूवार 11 अप्रैल को मतदान होगा और मतगणना गुरूवार 23 मई को होगी। उन्होंने बताया कि प्रत्येक प्रत्याशी खर्च की अधिकतम सीमा 70 लाख रूपये निर्धारित है।

उन्होंने पत्रकारों को बताया कि भारत निर्वाचन आयोग के दिशा निर्देशों के तहत लोकसभा क्षेत्र का निर्वाचन संपादित करने हेतु आवश्यक दिशा निर्देश दिए हैं। उन्होंने पत्रकार वार्ता में बताया कि जिले के सभी सरकारी इमारतों, निजी भवनों, खम्बो, प्रचार-प्रसार सामग्री, हटाने के निर्देश संबंधित अधिकारी और नगर पालिका अधिकारियों को दिये गये है। शहरी एवं ग्रामीण क्षेत्रों से प्रचार सामग्री हटाने का काम शुरू हो गया है। इसके साथ ही लाउड स्पीकर, सभा, जुलुस, रैली धरना करने हेतु पूर्व में अनुमति लेना भी आवश्यक होगा। रात्रि 10 बजे से सवेरे 6 बजे तक ध्वनि विस्तार यंत्र का उपयोग प्रतिबंधित रहेगा।

शासन द्वारा जनप्रतिनिधियों को प्रदाय किये गये शासकीय वाहन भी वापस लिये जायेंगे। जिले में सुरक्षा व्यवस्था हेतु आयोग द्वारा दिये गये समस्त निर्देशों के पालन किये जाने की बात कही। कलेक्टर एवं जिला निर्वाचन अधिकारी एल्मा ने बताया कि विधानसभा निर्वाचन की तुलना में इस बार 17 और संवेदनशील मतदान केन्द्रों को स्थानांतरित करने का प्रस्ताव निर्वाचन आयोग को भेजा गया था। जिसकी स्वीकृति मिल गयी हैं। लोकसभा निर्वाचन में अब 35 मतदान केन्द्रों को अन्यत्र स्थान पर स्थानांतरित किया जायेगा।

कलेक्टर एवं जिला निर्वाचन अधिकारी पी.एस. एल्मा ने बताया कि नारायणपुर जिले में 125 पोलिंग बूथ है। इसके साथ ही पड़ोसी जिले कोण्डागांव में 50 और बस्तर में 82 सभी पोलिंग बूथ है। नारायणपुर जिले के पोलिंग बूथों में शौचालय, बिजली, पेयजल के साथ दिव्यांगो के लिए रैम्प एवं अन्य ज़रूरी सुविधाए सुनिश्चत करने के संबंध में अधिकारियों को निर्देश दिए गए है। उन्होंने कहा कि निर्वाचन कार्यालय द्वारा सभी तैयारियाँ पूरी कर ली गई है। निर्वाचन से जुड़े अधिकारी-कर्मचारियों का प्रशिक्षण भी जारी है।

Back to top button