लोकसभा चुनाव 2019 में दिखेगी नई बीजेपी, वाजपेयी युग के नेताओं से किया किनारा

लिस्ट में वाजपेयी युग के बड़े नेता शांता कुमार का नाम नहीं

शिमला: आगामी लोकसभा चुनाव 2019 के मद्देनजर भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने रविवार को हिमाचल प्रदेश के लोकसभा उम्मीदवारों की लिस्ट जारी की. इस लिस्ट के अनुसार वाजपेयी युग के बड़े नेता शांता कुमार का नाम नहीं है. इसके अलावा उत्तर प्रदेश में बीजेपी के वरिष्ठ नेता मुरली मनोहर जोशी का भी टिकट कटना तय माना जा रहा है.

जानकारी के अनुसार बता दें इससे पहले अटल बिहारी वाजपेयी युग के वरिष्ठ नेता लालकृष्ण आडवाणी का पत्ता लोकसभा चुनाव से काट दिया है. उनके बदले अमित शाह को चुनावी इलाके का कमान दिया है.

लोकसभा चुनाव 2019 में नई भारतीय जनता पार्टी दिखेगी. इस चुनाव में बीजेपी ने अटल बिहारी वाजपेयी युग के नेताओं से किनारा कर लिया है. इसके पीछे बड़ी वजह यह है कि वाजपेयी युग के नेताओं की उम्र काफी अधिक हो चुकी है.

बीजेपी ने हिमाचल प्रदेश में पूर्व मुख्यमंत्री शांता कुमार समेत अपने चार में से दो सांसदों के टिकट काट दिए. पार्टी ने को प्रदेश की सभी चार सीटों पर उम्मीदवारों के नामों का ऐलान कर दिया. पार्टी ने पूर्व मुख्यमंत्री प्रेम कुमार धूमल के बेटे अनुराग ठाकुर को हमीरपुर से और राम स्वरूप को मंडी से फिर से टिकट दिया है.

बीजेपी ने अपने सांसद वीरेंद्र कश्यप की जगह पच्छाद से विधायक सुरेश कश्यप को शिमला से उम्मीदवार बनाया है. 84 साल के शांता कुमार ने गुरुवार को नई दिल्ली में कहा था कि वह संसदीय चुनाव लड़ना नहीं चाहते हैं. इसी के साथ पूर्व मुख्यमंत्री जाहिर तौर पर चुनावी राजनीति से सेवानिवृत्त हो गए.

विधायक किशन कपूर को मिला शांता कुमार की जगह टिकट

बीजेपी ने 2014 के लोकसभा चुनाव में सभी चार सीटें जीती थीं. उसने राज्य के मंत्री और धर्मशाला के विधायक किशन कपूर को शांता कुमार की जगह कांगड़ा से टिकट दिया है. 68 वर्षीय किशन कपूर, जय राम ठाकुर नीत बीजेपी सरकार में खाद्य, नागरिक आपूर्ति एवं उपभोक्ता मामलों के मंत्री हैं. वहीं सुरेश कश्यप (48) 16 साल से ज्यादा समय तक भारतीय वायु सेना में काम कर चुके हैं.

Back to top button