असंदिग्ध बैलेट प्रथा से हो लोकसभा चुनाव: रिजवी

रायपुर।

जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़ (जे) के मीडिया प्रमुख एवं वरिष्ठ अधिवक्ता इकबाल अहमद रिजवी ने कहा है कि सम्पन्न छत्तीसगढ़ विधानसभा चुनाव में ईवीएम एवं वीवीपैट चुनाव पद्धति में सभी वर्ग संदिग्धता का निराकरण चाहता है। पहले बैलेट पद्धति से सम्पन्न होने वाले चुनावो में शंका का अभाव था।

सम्पन्न छत्तीसगढ़ विधानसभा चुनाव में लगभग 1 हजार ईवीएम एवं वीवीपैट मतदान शुरू होते ही खराब होने लगे थे तथा उनको बदलने व सुधारने में घंटो नष्ट हुये जो यह सिद्ध करता है कि ईवीएम एवं वीवीपैट पूर्ण रूपेण निष्पक्ष एवं पारदर्शी नही है। ईवीएम एवं वीवीपैट या तो तकनीकी तरीके से खराब हुए या जानबूझकर खराब किये या करवाये गये है।

दोनो मशीनों की संदिग्धता का निराकरण जनता जानना चाहती है इसलिए दोनो मशीनो में हुई खराबी की सबसे पहले निष्पक्ष जांच होना चाहिए साथ ही ईवीएम के साथ-साथ वीवीपैट से निकली पर्चियो की भी गिनती जनहित में आवश्यक है इससे दूध का दूध एवं पानी का पानी साफ हो जाएगा तथा ईवीएम पद्धति पर उठ रही उगलियो पर रोक भी लगायी जा सकेगी।

रिजवी ने कहा है कि ऐसे में सहज ही प्रश्न उठता है कि इस पद्धति के जनक जापान सहित जर्मनी एवं अमेरिका जैसे पश्चिमी देशो ने ईवीएम पद्धति को तिलाजंली देकर वापस बैलेट प्रणाली को ही क्यो स्वीकार किया है ?

इस संदिग्धता के निराकरण हेतु भारत निर्वाचन आयोग को एक सर्वदलीय प्रतिनिधिमंडल जापान सहित अन्य पुनः बैलेट पद्धति पर वापस आने के कारण का पता लगाने आसन् लोकसभा चुनाव के पूर्व सभी देशो में भेजा जाये कि उन देशो ने ईवीएम का उपयोग पूर्णतः क्यो बंद कर दिया है।

आयोग से अपेक्षा है कि जनमत की प्रबल आवश्यकता एवं आकांक्षा के निराकरण हेतु इस दिशा में पहल करे तथा परंपरागत बैलेट पेपर प्रणाली को पूर्ववत् स्थापित कर देश की गौरवशाली निष्पक्ष बैलेट प्रणाली को बहाल किया जाये।

1
Back to top button