लोकसभा निर्वाचन: व्यय निगरानी के लिए दल हुए प्रशिक्षित

किसी भी स्थिति में आदर्श आचरण संहिता का उल्लंघन न हो

रायपुर :कलेक्टर एवं जिला निर्वाचन अधिकारी डॉ. बसवराजु एस. के निर्देशन पर जिला कलेक्टोरेट परिसर स्थित रेडक्रास सभाकक्ष में लोकसभा निर्वाचन-2019 हेतु जिले में व्यय निगरानी के लिए गठित विभिन्न दलों को आवश्यक प्रशिक्षण प्रदान किया गया। जिन दलों के सदस्यों को प्रशिक्षण दिया गया उसमें वीडियो निगरानी, लेखांकन, वीडियो दर्शन, नियंत्रण कक्ष और कॉल सेंटर के सदस्य शामिल है।

प्रशिक्षण में उप जिला निर्वाचन अधिकारी राजीव पाण्डेय और संभागीय संयुक्त संचालक कोष लेखा एवं पेंशन प्रशांत लाल ने सदस्यों को लोकसभा निर्वाचन-2019 में व्यय निगरानी के संबंध में भारत निर्वाचन आयोग द्वारा जारी दिशा-निर्देशों के बारें में विस्तार से जानकारी प्रदान करते हुए सभी से परस्पर समन्वय बनाकर कार्य करने को कहा।

उन्होंने कहा कि यह ध्यान रखे कि किसी भी स्थिति में आदर्श आचरण संहिता का उल्लंघन न हो। आचार संहिता के दौरान राजनैतिक दलों द्वारा प्रचार-प्रसार के लिए उपयोग की जाने वाली सामग्री का विवरण संबंधित दल को रखना आवश्यक है। इसी तरह चुनाव आयोग के निर्देशानुसार राजनैतिक दलों द्वारा प्रचार-प्रसार के लिए बैठक एवं अन्य कार्यक्रमों के लिए नियमानुसार अनुमति ली जानी आवश्यक है। ऐसे कार्यक्रमों एवं बैठकों आदि का निगरानी द्वारा वीडियोग्राफी भी की जानी है।

राजनैतिक दलों द्वारा प्रचार-प्रसार के दौरान उपयोग की जाने वाले सामग्री एवं साधनों का निर्वाचन आयोग द्वारा जारी सूची में निर्धारित किये गए दर के अनुसार लेखांकन करना है। इस अवसर पर प्राचार्य शासकीय लेखा प्रशिक्षण शाला विवेक मिश्रा, मास्टर ट्रेनर सहायक लेखाधिकारी पुरषोत्तम सोनी सहित गठित व्यय निगरानी दल के सदस्य उपस्थित थे।

Back to top button