छत्तीसगढ़राजनीति

लोकवाणी के 11वीं कड़ी का प्रसारण : कुपोषण और मलेरिया मुक्त होगा बस्तर-CM बघेल

भोपालपटनम में बांस आधारित कारखाना लगाया जायेगा कोंडागांव में मक्का प्रसंस्करण एवं दन्तेवाड़ा में स्थापित होगा मल्टीस्किल सेंटर

उत्तर बस्तर कांकेर 11 अक्टूबर 2020 : लोकवाणी के ग्यारहवीं कड़ी का प्रसारण आज किया गया, ‘‘नवा छत्तीसगढ़ः हमर विकास- मोर कहानी’’ विषय पर आधारित इस लोकवाणी में मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कहा कि बस्तर को कुपोषण एवं मलेरिया मुक्त किया जायेगा, साथ ही हर तरह के अन्यायों से भी मुक्त होगा, यह मेरा वायदा है।

भोपालपटनम में बांस आधारित कारखाना तथा कोंडागांव में मक्का प्रसंस्करण लगाया जायेगा और दन्तेवाड़ा में मल्टीस्किल सेंटर स्थापित की जायेगी। उन्होंने कहा कि लोहाण्डीगुड़ा में आदिवासी किसानों की जमीन वापसी से उपजा उत्साह प्रदेश में 200 फूड पार्क स्थापित करने का माध्यम बन गया, 101 के लिए जमीन चिन्हांकित हो चुकी है।

मुख्यमंत्री बघेल ने कहा

मुख्यमंत्री बघेल ने कहा कि नारायणपुर में उच्च क्षमता का ‘मोबाइल-टॉवर’ और जगदलपुर से हैदराबाद-रायपुर की हवाई कनेक्टिविटी से हालात और तेजी से बदलेंगे। बोधघाट बहुद्देशीय परियोजना बनाएंगे और इंद्रावती नदी को बचाएंगे। उन्होंने कहा कि हमने वादा किया था कि बेवजह जेल में ठूंसे गए आदिवासियों को मुक्ति दिलाएंगे, करीब 900 लोगां की मुक्ति सुनिश्चित की गई है। हम ऐसे रास्ते बनाएंगे जो बस्तर को तेजी से आगे बढ़ाएंगे।

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कहा कि किसानों को न्याय, स्वाभिमान और स्वावलंबन प्रदान करने के लिए धान का दाम 2500 रुपये प्रति क्विंटल, कृषि ऋण माफी, सिंचाई कर माफी, रियायती बिजली, अनुसूचित जाति-जनजाति किसानों को खेती के लिए निःशुल्क बिजली जैसी योजनाएं लागू की गई हैं।

राजीव गांधी किसान न्याय योजना

राजीव गांधी किसान न्याय योजना’ के तहत 5 हजार 700 करोड़ रुपए देने का वायदा, आधा से ज्यादा पूरा हो चुका है, शेष राशि भी जल्दी ही मिल जाएगी, हमने जो-जो कहा है, सब पूरा करेंगे। उन्होंने कहा कि बस्तर ने कुपोषण मुक्ति की अलख जगाई तो मुख्यमंत्री सुपोषण योजना बनाई गई और 1 साल में पूरे प्रदेश में कुपोषण की दर 13.79 प्रतिशत कम हुई।

तेंदूपत्ता संग्रहण पारिश्रमिक 2500 रुपए से बढ़ाकर 4000 हजार रुपए प्रति मानक बोरा किया तो पूरे वनांचल में उत्साह की लहर उठी। लघु वनोपज खरीदने का दायरा 7 से बढ़ाकर 31 किया, जिसके परिणामस्वरूप छत्तीसगढ़ देश में सर्वाधिक वनोपज खरीदने वाला राज्य बन गया है। वन अधिकार मान्यता पत्र के खारिज दावों की समीक्षा कर निरस्त दावों में से 40 हजार से ज्यादा लोगों को व्यक्तिगत पट्टे दिये गये, इसके अलावा 46 हजार, सामुदायिक पट्टे दिये गये है।

इस प्रकार प्रदेश में 4 लाख 87 हजार भू-अधिकार पट्टों के माध्यम से 51 लाख एकड़ भूमि का पट्टा दिया जा चुका है, जो देश में सर्वाधिक है। इन वन अधिकार पट्टों से मिली जमीनों में, अब दर्जनों गांवों में खेती, पशुपालन, छलीपालन तथा आजीविका के नये-नये काम हो रहे हैं। उन्होंने कहा कि 14 हजार 850 स्थाई शिक्षकों की भर्ती, पहिली तथा दूसरी कक्षा के बच्चों को 20 बोली-भाषाओं में द्विभाषी पाठ्यपुस्तकों का वितरण, 51 सरकारी आदर्श अंग्रेजी मीडियम स्कूल, स्वामी आत्मानंद विद्यालयों की स्थापना जैसे बड़े निर्णय लिए गये हैं।

पढ़ाई तुंहर द्वार’ योजना

शिक्षाकर्मियों का संविलियन 2 वर्षों में पूरा करने का वायदा भी निभाया है। ऑनलाइन पढ़ाई के लिए पहले ‘पढ़ाई तुंहर द्वार’ योजना शुरू की गई, जिसमें 22 लाख बच्चे और 2 लाख शिक्षक, शिक्षिकाएं जुड़े। 22 हजार 916 शिक्षकों द्वारा 34 हजार 917 बसाहटों के पारे मोहल्लों में कक्षायें संचालित है, 7 लाख 48 हजार 539 बच्चे पारा, मोहल्लों में भौतिक दूरी और सुरक्षा के साथ पढ़ाई कर रहे हैं, 2 हजार 278 शिक्षक, 4 हजार 298 दुर्गम स्थानों में 72 हजार से अधिक बच्चों को पढ़ाई करा रहे हैं।

मुख्यमंत्री ने कहा कि ‘डॉ. खूबचंद बघेल स्वास्थ्य सहायता योजना’ के अंतर्गत 9 माह में 2 लाख 71 हजार लोगां को 50 हजार रुपए तक इलाज की सुविधा निःशुल्क दी गई है। मुख्यमंत्री विशेष स्वास्थ्य योजना के अंतर्गत 9 माह में 315 लोगों को 20 लाख रुपए तक उपचार की सुविधा दी गई है, सिर्फ इन दो योजनाओं में ही लगभग 350 करोड़ रूपए खर्च किया गया है। उन्होंने कहा कि हाट-बाजार क्लीनिक योजना, शहरी स्लम स्वास्थ्य योजना की अपार सफलता और लाखों लोगों के उपचार से प्रेरित होकर अब ‘डॉ. राधाबाई डायग्नोस्टिक सेंटर योजना’ की शुरुआत की जा रही है।

गौठान में लोकवाणी

कांकेर विकासखण्ड के ग्राम नवागांव भावगीर के गौठान में लोकवाणी को सुनने की व्यवस्था की गई थी, जहॉ पर ग्राम पंचायत नवागांव भावगीर के सरपंच नरसू मण्डावी, जनपद पंचायत कांकेर के पंचायत निरीक्षक चिंता यादव एवं ग्राम पंचायत सचिव हेमन्त मण्डावी, गौठान अध्यक्ष पंचम दुग्गा, पंच खिलेश्वरी मण्डावी, किरण मण्डावी, गीता मण्डावी, रोजगार सहायक दुलमा नेताम, पवन शोरी, सुलोचना, गणेश्वरी, परदेशी पटेल, रामदास, चरवाहा घुरऊ कोर्राम, फुलसिंह कोर्राम और रूपेश मरकाम सहित ग्रामीणों से उत्सापूर्वक लोकवाणी को सुना।

इसी प्रकार कृषि विज्ञान केन्द्र कांकेर में भी लोकवाणी को सुनने के लिए व्यवस्था किया गया था, जहॉ वरिष्ठ कृषि वैज्ञानिक डॉ. बीरबल साहू, कोमल सिंह ठाकुर सहित कृषक कलीरा दर्रो, अनिल सलाम, धन्नुराम नेताम, बलीराम नेताम, राजकुमार दर्रो, कैलाश दर्रो, रोहित सलाम, रामेश्वर बघेल, शिवलाल निषाद, संतोष सलाम, नंदकुमार कोमरा, देवप्रसाद जैन, बिरसिंह साहू, किरण कुमार दर्रो, नारायण कावड़े, घनयाम दर्रो ने भी लोकवाणी को सुना।

लोकवाणी का आगामी प्रसारण 8 नवम्बर

लोकवाणी का आगामी प्रसारण 8 नवंबर को किया जायेगा, जिसमें मुख्यमंत्री भूपेश बघेल की बच्चों से बातचीत प्रसारित की जायेगी, जिसके लिए 16 वर्ष से कम आयु के बालक-बालिकाएं, अपनी पढ़ाई, खेलकूद, भविष्य आदि विषयों पर अपने विचार 28, 29 एवं 30 अक्टूबर को फोन नम्बर 0771-2430501, 2430502, 2430503 पर अपरान्ह 3 से 4 बजे के बीच फोन करके अपने सवाल रिकार्ड करा सकते हैं।

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button