स्पेस में बच्चे की डिलिवरी के लिए एजेंसी को वॉलनटिअर्स की है तलाश

वह 2024 तक स्पेस में पहले बच्चे की डिलिवरी की तैयारी में है

स्पेस यानी अंतरिक्ष में बच्चे की डिलिवरी का आइडिया किसी साइंस फिक्शन ब्लॉकबस्टर का प्लॉट लग सकता है।

हालांकि वैज्ञानिकों की मानें तो अगले 6 सालों में ऐसा मुमकिन हो सकता है। स्पेसलाइफ ऑरिजिन ने घोषणा की है कि वह 2024 तक स्पेस में पहले बच्चे की डिलिवरी की तैयारी में है। एजेंसी को इसके लिए वॉलनटिअर्स की तलाश है।

डेली मिरर की रिपोर्ट के मुताबिक स्पेसलाइफ ऑरिजिन्स के फाउंडर और सीईओ कीज मल्डर ने कहा कि अगर मानवता मल्टिप्लेनेटरी (बहुग्रहीय) प्रजाति बनना चाहती है तो हमें स्पेस में प्रजनन के तरीके सीखने की भी आवश्यकता है।

फर्म का दावा है कि वह एक अंतरिक्ष-भ्रूण-इनक्यूबेटर बना रही है जिसे 2021 में अंडे और स्पर्स के साथ स्पेस में भेजा जाएगा।

एजेंसी के मुताबिक अंडे और स्पर्म के मेल से स्पेस में भ्रूण विकसित होना शुरू हो जाएगा। हालांकि उन्होंने इसकी प्रक्रिया के बारे में नहीं बताया।

4 दिनों बाद इन्क्यूबेटर धरती पर लौट आए आएगा और यहां पर असल गर्भावस्था और प्रसव यहीं संपन्न होगा। फर्म ने बताया है कि 2024 में उसने स्पेस में पहले प्रसव की योजना बनाई है।

फर्म के प्रवक्ता ने बताया कि 24-36 घंटे के एक मिशन में धरती से 250 मील ऊपर एक महिला बच्चे को जन्म देगी। ‘

उस दौरान महिला के साथ ट्रेंड और वर्ल्ड क्लास मेडिकल टीम भी मौजूद रहेगी। उन्होंने कहा कि सावधानी से तैयार किया गया और देखरेख में पूरी की गई इस प्रक्रिया में सभी संभावित खतरों से निपटने का उपाय होगा।

हालांकि यह प्रक्रिया काफी खर्चीली साबित होने जा रही है। फर्म ने बताया है कि स्पेस में भ्रूण धारण करने का खर्च 250000 डॉलर से लेकर 50 लाख डॉलर तक होगा।

अंतरिक्ष में बच्चा पैदा करने का खर्च इससे भी कहीं अधिक रहने की उम्मीद है। अब फर्म 2022 के अपने प्रॉजेक्ट के लिए वॉलनटिअर्स की तलाश में जुटा हुआ है।

Back to top button