स्नान के बाद भगवान जगन्नाथ आज हुए बीमार

-14 जुलाई को राजधानी में धूमधाम से निकलेगी भगवान जगन्नाथ की रथ यात्रा

रायपुर:

जेष्ठ माह की पूर्णिमा तिथि गुरुवार को है। मान्यता है कि इस तिथि पर भगवान जगन्नाथ अपने भाई-बहन और भक्तों के साथ स्नान करेंगे। यह विधान शहर के सभी जगन्नाथ मंदिरों में सुबह से शुरू हुई।

अत्यधिक स्नान करने से भगवान महाप्रभु बीमार हो जाते हैं। इसके साथ ही 15 दिनों के लिए मंदिरों के पट पूजा-अर्चना के लिए बंद हो जाएंगे।

इस दौरान भगवान को केवल जड़ी-बूटियों का भोग अर्पित किया जाएगा, जिससे ठीक होने पर भगवान 13 जुलाई को नेत्र खोलेंगे। जिसे नेत्र उत्सव पर्व के रूप में मनाया जाएगा। 14 जुलाई को जगन्नाथ पुरी की तर्ज पर राजधानी में महाप्रभु की रथयात्रा धूमधाम से निकलेगी।

इन मंदिरों में रथ यात्रा की तैयारी

शहर के सदरबाजार, टूरी हटरी तथा गायत्री नगर स्थित मंदिरों में भगवान के रथ की तैयारियां शुरू हो गई हैं। जगन्नाथ मंदिर सदरबाजार के के सर्वराकार ओम प्रकाश पुजारी ने बताया कि 28 जून को सुबह 10.30 बजे जलयात्रा कार्यक्रम होगा।

अषाढ़ शुक्लपक्ष द्वितीय को भगवान स्वस्थ होकर रथ में अपने भाई बलभद्र और बहन सुभद्रा के साथ मोसी के घर जाएंगे, जिसे रथयात्रा कहा जाता है। इस उत्सव को धूमधाम से मनाया जाएगा। 13 जुलाई को शाम 7 बजे नेत्र उत्सव पर्व मनाया जाएगा।

Back to top button