लॉकडाउन के बाद जितना कमाया अब उससे भी ज्यादा का होने जा रहा है घाटा

50 लाख स्मार्टफोन को लेकर कंपनियों की बढ़ी चिंता!

कोरोना महामारी के कारण महाराष्ट्र, छत्तीसगढ़ और मध्य प्रदेश जैसे राज्यों में लॉकडाउनल लगने के कारण स्मार्टफोन निर्माता कंपनियों को बड़ा नुकसान होने वाला है. ऐसा माना जा रहा है कि लाकडाउन के कारण दूसरे तिमाही (अप्रैल से लेक जून तक) में स्मार्टफोन कंपनियों को 5 मिलियन यानी 50 लाख कम फोन के बिक्री का घाटा झेलना पड़ सकता है.

इस तिमाही में बिक्री बढ़ने की उम्मीद करते हुए कंपनियां प्रोडक्शन में तेजी ला रही हैं और उम्मीद कर रही हैं कि प्रतिबंध के हटने के बाद 2020 की तरह इस बार भी डिमांड में भारी उछाल आएगी. कंपनियों ने कहा कि नाइट कर्फ्यू और अन्य क्षेत्रीय प्रतिबंध के कारण कम्पोनेंट्स और तैयार माल के लाने और भेजने में भी देरी हो रही है.
50 लाख फोन की बिक्री का होगा घाटा

महाराष्ट्र सरकार ने बुधवार को ई-कॉमर्स कंपनियों के फोन डिलिवरी करने की अनुमति पर भी प्रतिबंध लगा दिया है जो भारत में कुल बिक्री का 10 प्रतिशत है. वहीं ऑफलाइन रिटेलर्स ने मध्य प्रदेश के सीएम सीएम शिवराज सिंह चौहान को पत्र लिखकर ऑनलाइन और ऑफलाइन रिटेल के बीच निष्पक्षता रखने की मांग की है. ऑफलाइन और ऑनलाइन चैनलों के बीच चलने वाली खींचातानी भी ब्रांडों के संकट को बढ़ाएगा.

GadgetsNow की रिपोर्ट के मुताबिक काउंटरपॉइंट रिसर्च के असोसिएट डायरेक्टर तरुण पाठक ने कहा कि दूसरी तिमाही में एजेंसी के 37-39 मिलियन शिपमेंट के पिछले अनुमानों पर 15 प्रतिशत की गिरावट आएगी. उन्होंने कहा कि ” यह लगभग 5 मिलियन शिपमेंट का एक वॉशआउट है. हमने महाराष्ट्र लॉकडाउन और अन्य कारकों को ध्यान में रखा है. हालांकि, हम एनुअल प्रीडिक्शन को नहीं बदल रहे हैं क्योंकि मांग में सुधार हो सकता है. ”

स्मार्टफोन निर्मताओं ने क्या कहा?

भारत के टॉप स्मार्टफोन ब्रांड शियोमी के एक प्रवक्ता ने कहा कि ऐसी उम्मीद है कि कुछ हिस्सों में लॉकडाउन लगने के कारण बिक्री में कम प्रभाव पड़ेगा, यदि कोई राज्य लॉकडाउन लागू करता है, तो हम बिक्री पर असर कम रहने की उम्मीद जताते हैं. मार्केट खुलने के बाद हम इस डिमांड गैप को पूरा करने में सक्षम होंगे.

वहीं लावा इंटरनेशनल के चीफ मैन्युफैक्चरिंग ऑफिसर संजीव अग्रवाल ने इकोनॉमिक्स टाइम्स को बताया कि कंपनी के सेल पर पहले से ही असर दिख रहा है ऐसे में अगर मोजूदा स्थिति बनी रहती है तो आने वाले दिनों में हमें और अधिक चुनौतियों का सामना करना पड़ सकता है. इस महामारी ने ग्लोबल सप्लाई चेन को बाधित कर दिया है. हम कम्पोनेंट्स की कमी का सामना कर रहे हैं और साथ ही उनकी कीमतों में वृद्धि देख रहे हैं.

Realme India ने भी कहा कि कुछ समय के लिए सेल प्रभावित होंगे क्योंकि कुछ शहरों ने फिर से सख्त लॉकडाउन शर्तों को लागू करना शुरू कर दिया है. इसके साथ ही कंपनी के प्रवक्ता ने बाजार में चिपसेट की कमी के मुद्दे पर भी बात की और कहा कि कंपनी डिमांड को पूरा करने के लिए “सर्वश्रेष्ठ प्रयास” कर रही है.

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button