लव जिहाद मामला: कॉलेज पहुंचकर हादिया बोली, ‘अभी भी मैं आजाद नहीं’

लव जिहाद मामला: कॉलेज पहुंचकर हादिया बोली, ‘अभी भी मैं आजाद नहीं’

सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद हादिया अपनी पढ़ाई पूरी करने तमिलनाडु के सलेम के होमियोपैथी कॉलेज पहुंची है. यहां बुधवार को पत्रकारों से बात करते हुए हादिया ने कहा कि मैंने कोर्ट से आजादी मांगी और मैं अपने पति से मिलना चाहती हूं लेकिन सच यही है कि मैं अभी तक आजाद नहीं हूं.

हादिया ने कहा कि मैं उस इंसान के साथ रहना चाहती हूं जिससे सबसे ज्यादा प्यार करती हूं.

हादिया ने कहा कि कॉलेज वापस जाकर खुश हूं. मैंने अपनी मर्जी से इस्लाम धर्म अपनाया है.

उन्‍होंने कहा कि मैं वह अधिकार मांग रही हूं, जो हर नागरिक के पास हैं. इसका राजनीति और जाति से कुछ लेना-देना नहीं है.

हादिया ने कहा, इसका राजनीति और जाति से वास्ता नहीं है.

मैं उनसे बात करना चाहती हूं जिन्हें पसंद करती हूं.

होमियोपैथी कॉलेज के प्रिंसिपल ने कहा कि मेरी मंजूरी से वो अपने पति समेत हर किसी से मिल सकती है.

प्रिंसिपल ने कहा कि वो हमारे यहां कॉलेज हॉस्टल ज्वाइन कर रही है. वो कॉलेज ज्वाइन करने आई है और प्रक्रिया शुरू हो गई है. उसे हर वक्‍त पुलिस की सुरक्षा मिलेगी.

प्रिंसिपल ने कहा कि हम दूसरे छात्रों की तरह ही उसका स्वागत करते हैं. दूसरे छात्र भी कॉलेज में उसका स्वागत करेंगे.

सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद हादिया के पिता केएम अशोकन ने उसके पति शेफीन जहां को आतंकी बताते हुए कहा कि वो अपने परिवार में एक आतंकी को नहीं रख सकते.

हादिया के पिता ने कहा कि इस्लाम धर्म कबूलने के हादिया सीरिया जाना चाहती थी, लेकिन उसे सीरिया की हकीकत का पता नहीं है. मुझे डर था कि इन सबके बीच उसकी पढ़ाई खत्म हो जाएगी, लेकिन अब ख़ुशी है कि कोर्ट ने उसे पढ़ाई पूरा करने का आदेश दिया है.

Back to top button