लव जिहादियों को काटने के लिए हिन्दू लेकर चलें तलवार : – साध्‍वी सरस्‍वती

धार्मिक भावनाओं को आहात पहुँचाने का मामला हुआ दर्ज

केरल.विहिप नेता साध्वी बालिका सरस्वती के खिलाफ खिलाफ में धार्मिक भावनाओं को आहत करने का बयान देने पर FIR दर्ज किया गया है पिछले दिनों केरल में आयोजित एक हिंदू सम्मेलन में अपने भाषण में कथित तौर पर हिंसा भड़काने और धार्मिक भावनाओं को आहत करने वाला बयान देने को लेकर सोमवार (30 अप्रैल) को मामला दर्ज किया गया। साध्वी बालिका सरस्वती पर पूर्व में भी कई भड़काऊ बयान देने के आरोप लगे हैं। केरल में 28 अप्रैल को साध्वी बालिका सरस्वती ने कथित रूप से कहा था कि लव जिहादियों को काटने के लिए हिन्दुओं को तलवार लेकर चलना चाहिए। साध्वी बालिका पर आरोप है कि उन्होंने कहा कि जो गौहत्या करते हैं उनके खिलाफ भी तलवार रखने की जरूरत है।

खास बात यह है कि वीएचपी के इस कार्यक्रम में बडियाडुक्की पंचायत के अध्यक्ष और कांग्रेस नेता केएन कृष्णा भाट मौजूद थे। उन्हीं की मौजूदगी में साध्वी बालिका सरस्वती ने कथित रूप से यह बयान दिया। कासरगोड जिला कांग्रेस के अध्यक्ष हक्कीम कुन्निल ने कहा कि इस कार्यक्रम में शिरकत करने के लिए पंचायत समिति के नेताओं को बैन कर दिया गया है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस ने के एन कृष्णा को इस कार्यक्रम में जाने से मना किया था बावजूद इसके वो इस कार्यक्रम में गये।

बडियाडुक्की पुलिस ने कहा कि मधुर गांव के शाहुल नौफुल की शिकायत पर साध्वी बालिका सरस्वती के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया गया है। पुलिस ने कहा कि भारतीय दंड संहिता की गैर जमानती धाराओं के तहत मामला दर्ज किया गया है जिनमें 295 ए (किसी वर्ग के धर्म का अपमान करने के आशय से उपासना के स्थान को क्षति करना या अपवित्र करना।) , 153 (धर्म, भाषा, नस्ल वगैरह के आधार पर नफरत फैलाने की कोशिश) और 506 (आपराधिक धमकी) हैं। पुलिस ने कहा कि साध्वी ने 27 अप्रैल को कासरगोड जिले के बडियाडुक्की में एक हिन्दू सम्मेलन को संबोधित करते हुए अपने भड़काऊ भाषण से तनाव पैदा करने की कोशिश की थी।विश्व हिंदू परिषद और बजरंग दल ने सम्मेलन का आयोजन किया था।

Back to top button