राष्ट्रीय

माछिल मुठभेड़ : पांच सैन्य कर्मियों को दी गई उम्रकैद की सजा निलंबित

नई दिल्ली: दो अधिकारियों सहित पांच सैन्य कर्मियों को साल 2010 में माछिल में तीन कश्मीरी लोगों की हत्या के लिए कोर्ट मार्शल में मिली उम्रकैद की सजा सैन्य बल न्यायाधिकरण में निलंबित होने के बाद जमानत पर रिहा किया जाएगा.

अधिकारियों ने बताया कि सैन्य बल न्यायाधिकरण ने कर्नल दिनेश पठानिया, कैप्टन उपेंद्र, हवलदार देविंदर, लांसनायक लखमी और लांस नायक अरुण कुमार को सुनाई गई उम्रकैद की सजा निलंबित कर दी और उन्हें जमानत दे दी.

न्यायाधिकरण में कर्नल पठानिया की पैरवी करने वाले वरिष्ठ वकील अमन लेखी ने कहा, ‘‘न्यायाधिकरण का यह साहसिक फैसला है. मैं बहुत खुश हूं. आदेश ने मामले में बहुत हद तक भ्रम दूर कर दिया है. ’’ सरकार ने पांचों सैन्य कर्मियों को जमानत दिए जाने का जोरदार विरोध किया. लेखी ने कहा कि उन्हें कल या एक दिन बाद रिहा कर दिया जाएगा.

Tags
Back to top button