मध्यप्रदेश : प्याज के भाव मे गिरावट, किसान प्याज मंडी में ही फेंक गए

जिस ढेर की नीलामी हुई उसके भाव 50 पैसे प्रति किलो लगाए। इतने कम भाव मिलने पर आधा दर्जन से अधिक नाराज किसान प्याज का ढेर मंडी में छोड़ लौट चले गए।

प्याज की जोरदार आवक से भावों में आई गिरावट किसानों को भारी पड़ रही है। शनिवार को 50 पैसे किलो तक भाव मिलने पर नाराज आधा दर्जन किसान प्याज मंडी में ही फेंक गए। किसानों का कहना है कि व्यापारी माल की क्वालिटी के आधार पर भाव तय कर रहे हैं। इससे भाव औंधे मुंह गिर गए हैं।

इसलिए नाराज हुए किसान… अड़मालिया के शिवलाल अहीर, चचौर के रामपप्रसाद रावत और डीकेन के राजेश भट्ट सहित अन्य किसानों का कहना है कि मंडी में व्यापारियों ने कई ढेरों की नीलामी नहीं की।

जिस ढेर की नीलामी हुई उसके भाव 50 पैसे प्रति किलो लगाए। इतने कम भाव मिलने पर आधा दर्जन से अधिक नाराज किसान प्याज का ढेर मंडी में छोड़ लौट चले गए। भावों में भारी गिरावट के लिए किसान व्यापारियों को जिम्मेदार ठहरा रहे हैं।

– 8 हजार बोरी प्याज की आवक

– 300 से 2600 रुपए क्विं. रहे औसत भाव

– 2 हजार बोरी लहसुन की आवक

– 200 से 800 रुपए प्रति क्विंटल रहे भाव

खराब माल कौन खरीदे

मंडी में किसान बेहतर गुणवत्ता का माल लेकर आएं। उन्हें उपज के दाम सही मिलेंगे। खराब माल की नीलामी मंडी में नहीं हो सकती। कोई भी व्यापारी खराब माल नहीं खरीदता। न ही उन्हें इसके लिए विवश किया जा सकता है।<>

Back to top button