बड़ी खबरमध्यप्रदेशराजनीतिराज्यराष्ट्रीय

मध्य प्रदेश: भाजपा-कांग्रेस में राजनीति तेज,तीन सीट और चार प्रत्याशी, 19 को मतदान

राज्यसभा चुनाव

भोपालः मध्य प्रदेश में राज्यसभा चुनाव को लेकर भाजपा और कांग्रेस के बीच दांवपेंच के साथ ही आखिरी चरण की तैयारियों और तेज हो गई हैं.

मध्य प्रदेश से राज्यसभा के तीन क्षेत्रों के लिए भाजपा और कांग्रेस की ओर से 2-2 प्रत्याशी मैदान में हैं. भाजपा और कांग्रेस दोनों की रणनीति है कि अपने विधायकों के अलावा दूसरे दलों के विधायकों से अपने प्रत्याशियों के पक्ष में मतदान कराया जाए.

मध्य प्रदेश विधानसभा में भाजपा की सदस्य 107 संख्या है, उसके अनुरूप भाजपा के दोनों प्रत्याशी ज्योतिरादित्य सिंधिया और सुमेर सिंह सोलंकी जीतने की स्थिति में हैं. क्योंकि प्रत्येक प्रत्याशी को जीतने के लिए 52-52 विधायकों के प्राथमिकता के क्रम के जो पहले वोट चाहिए, वह भाजपा के पास है.

वहीं राज्य विधानसभा में कांग्रेस की सदस्य संख्या 92 है. ऐसे में उसका सिर्फ एक ही प्रत्याशी जीत सकता है. इसीलिए कांग्रेस के द्वारा अपने दो प्रत्याशियों दिग्विजय सिंह और फूलसिंह बरैया में से दिग्विजय सिंह को प्राथमिकता के क्रम में पहले स्थान पर रखने से सिर्फ वही जीत की स्थिति में हैं.

आज कांग्रेस के मध्य प्रदेश प्रभारी मुकुल वासनिक के द्वारा ली गई विधायकों एवं वरिष्ठ नेताओं की बैठक में भी यही स्थिति प्रस्तुत हुई. बैठक में तय किया गया कि कांग्रेस के 92 में से 54 तय सुदा विधायकों द्वारा दिग्विजय सिंह को प्राथमिकता के क्रम में पहला वोट दिया जाएगा.

ज्योतिरादित्य सिंधिया और सुमेर सिंह सोलंकी को प्राथमिकता के क्रम के वोट किस तरह डलवाये जाएंगे.

इसके बाद बचे हुए 38 वोट, फूल सिंह बरैया को प्राथमिकता का पहला वोट देंगे. बताया गया है कि बैठक में दिग्विजय सिंह ने भरोसा जताया कि कांग्रेस के पक्ष में कुछ निर्दलियों के साथ ही सपा विधायक मतदान करेंगे. इस बारे में उनकी निर्दलीय विधायकों के साथ साथ सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव से बात हो गई है.

अपने दोनों प्रत्याशियों ज्योतिरादित्य सिंधिया और सुमेर सिंह सोलंकी को जिताने लायक पर्याप्त विधायक होने के बाद भी भाजपा सपा के एक और बसपा के दोनों और चारों निर्दलियों से संवाद में है. भाजपा के रणनीतिकारों को भरोसा है कि निर्दलिय और सपा, बसपा के विधायक भाजपा के पक्ष में मतदान करेंगे.

राज्यसभा के मतदान के पूर्व भाजपा ने कल 18 जून को भाजपा विधायक दल की बैठक बुलाई है, इसमें तय किया जाएगा कि ज्योतिरादित्य सिंधिया और सुमेर सिंह सोलंकी को प्राथमिकता के क्रम के वोट किस तरह डलवाये जाएंगे.

Tags
Back to top button