मध्य प्रदेश: पिता को जिंदा जलाया छेड़छाड़ का विरोध करने पर

मध्य प्रदेश के दमोह जिले में दबंगों ने एक शख्स को जिंदा जला दिया. नर्मदा साहू नाम के इस शख्स का कसूर बस इतना भर था कि वो दबंगों द्वारा अपनी बेटी के साथ आए दिन किए जाने वाले छेड़छाड़ का विरोध करता था. और उसने पुलिस में इसकी शिकायत कर दी थी.

मामला सामने आने पर पुलिस ने तीनों आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है. सूत्रों के अनुसार, हटा थाना क्षेत्र के निवासी नर्मदा साहू की नाबालिग बेटी से पड़ोस में रहने वाला सचिन नाम का लड़का छेड़छाड़ करता था. पीड़ित लड़की ने अपने पिता को यह बात बताई तो उन्होंने इसकी थाने में शिकायत दर्ज कराई थी. बौखलाहट में आरोपी लड़के और उसके दोस्तों ने नर्मदा को डराना-धमकाना शुरू कर दिया. उऩ्होंने नर्मदा पर अपनी रिपोर्ट को वापस लेने का दबाव बनाया.

नर्मदा के घरवालों का कहना है कि सचिन और उसके दो अन्य साथी राजकुमार और रामकुमार लगातार धमकियां दे रहे थे. इस बारे में उन्होंने पुलिस को भी बताया था. तीनों आरोपियों ने पूरे परिवार को जिंदा जलाने की धमकी दी थी. बीते रविवार को उन्होंने नर्मदा पर मिट्टी का तेल डालकर आग लगा दिया.
बुरी तरह झुलस चुके नर्मदा को फौरन इलाज के लिए जिला अस्पताल लाया गया, मगर देर रात उसकी मौत हो गई.

दमोह के एसपी विवेक अग्रवाल के मुताबिक, तीनों आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया गया है. उनसे पूछताछ की जा रही है. विवाद की वजह छेड़छाड़ न होकर कुछ और है. घटना के पीछे की मुख्य वजह क्या है, पुलिस इसकी जांच कर रही है.
सूत्रों के अनुसार नर्मदा ने मौत से पहले दिए अपने बयान में अपनी बेटी से छेड़छाड़ की बात कही है. जबकि, पुलिस इस बात को मानने को तैयार नहीं है.

advt
Back to top button