मद्रास हाईकोर्ट की मदुरै बेंच ने Tik Tok के ऊपर लगे बैन को हटाया

बैन के कारण 5 लाख डॉलर (करीब 3.5 करोड़) रुपये का नुकसान बताया

नई दिल्ली: मद्रास हाईकोर्ट की मदुरै बेंच ने Tik Tok एप से प्रतिबंध हटा लिया है. इससे पहले मद्रास हाई कोर्ट के आदेश के के बाद वीडियो शेयरिंग ऐप TikTok को भारत में बैन कर दिया गया था. इसको लेकर ऐप बनाने वाली कंपनी टिकटॉक (Tik Tok) ने सुप्रीम कोर्ट को बताया कि मद्रास हाईकोर्ट ने बिना हमारा पक्ष सुने रोक लगा दी.

कंपनी के लिए यह राहत भरी खबर है. क्योंकि, कंपनी की तरफ से कहा गया कि बैन के बाद हर दिन कंपनी को 5 लाख डॉलर (करीब 3.5 करोड़) रुपये का नुकसान हो रहा है. बता दें, जब सुप्रीम कोर्ट ने मद्रास हाईकोर्ट के फैसले पर स्टे लगाने से इनकार कर दिया था, तब सरकार ने गूगल और एप्पल से कहा था कि वह इस एप को प्ले स्टोर से हटा ले.

बाद में यह एप प्ले स्टोर पर उपलब्ध नहीं था. उम्मीद की जा रही है कि कोर्ट के फैसले के बाद एकबार फिर से ये एप प्ले स्टोर पर उपलब्ध होंगे. इससे पहले 22 अप्रैल को सुप्रीम कोर्ट ने मद्रास हाईकोर्ट को कहा था कि वह 24 अप्रैल तक इस मामले में फैसला ले, नहीं तो बैन हटा दिया जाएगा.

टिकटोक (TikTok) एक वीडियो कंटेट एप्लीकेशन है. इसकी लोकप्रियता का अंदाजा इसी बात से लगा सकते हैं कि, यह एप दुनिया में तीसरा सबसे ज्याद इंस्टॉल करने वाला मोबाइल एप्लीकेशन है. केवल मार्च महीने में दुनियाभर में 18.8 करोड़ लोगों ने इस एप को डाउनलोड किया था.

केवल भारत में 8.8 करोड़ यूजर्स ने इस एप को डाउनलोड किया था. पूरी दुनिया में 50 करोड़ से ज्यादा लोग इस एप्लीकेशन को यूज करते हैं.

Back to top button