महतारी एक्सप्रेस खराब,अपने खर्च पर घर लौटी छह प्रसूताएं

कंडम गाड़ियों की वजह से मरीजों को रही परेशानी

विकल्प तललवार/ बिलासपुर:
जच्चा.बच्चा अस्पताल में अचानक महतारी एक्सप्रेस 102 के खराब हो जाने पर लगभग आधा दर्जन प्रसूताएं समय पर घर नहीं पहुंच पाई। उन्हें अपने खर्च पर गाड़ी करनी पड़ी।

चक्का जाम होने के कारण समस्या हुई। गाड़ियों के कंडम हो जाने से आए दिन इस तरह की परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है।

बता दें कि सोमवार सुबह मंगला व उसके आसपास के गांव के लिए लगभग आधा दर्जन महिलाओं को डिलिवरी के बाद डिस्चार्ज किया गया।

तब सभी ने घर जाने के लिए महतारी एक्सप्रेस 102 को बुलाया। लोकेशन मिलने पर करीब साढ़े 12 बजे गाड़ी पहुंच गई और एक ही क्षेत्र के होने की वजह से एक साथ तीन.तीन महिलाओं को ले जाने की तैयारी थी। जैसे ही महिलाओं को गाड़ी में बैठाया गया।

वैसे ही गाड़ी का चक्का सीज हो गया। तब चालक उसे सुधारने की कोशिश करने लगा पर तत्काल में नहीं बन पाई। इसके बाद इस गाड़ी को बनाने में दो घंटे से ज्यादा का समय लगा।

ऐसे में प्रसूताओं को अपने ही खर्चे में घर जाने के लिए बाध्य होना पड़ा। इस तरह के मामले आए दिन हो रहे हैं। इसके बाद भी गाड़ियों की मरम्मत नहीं कराई जा रही है, जिससे महतारी की व्यवस्था धीरे.धीरे लचर होती जा रही है। कई बार तो यह गाड़ियां बीच रास्ते में बंद हो जाती हैं।

ऐसे में दिक्कत और भी बढ़ जाती है। कई बार रात के समय या फिर वनांचल क्षेत्र में गाड़ी के खराब होने पर ज्यादा परेशानी होती है। ऐसे में दूसरी गाड़ी की सेवा लेने में लंबा समय लग जाता है।

1
Back to top button