महंत सुरेश दास ने कहा, राम मंदिर का फॉर्मूला 25 जनवरी तक तैयार करे सरकार

संतों ने एक बार फिर केंद्र सरकार को चेतावनी दी

नई दिल्ली : अयोध्या में राम मंदिर निर्माण को लेकर संतों और सरकार के बीच संघर्ष छिड़ गई है. संतों ने सरकार के खिलाफ बगावत करने का फैसला ले लिया है. इसी कड़ी में संतों ने एक बार फिर केंद्र सरकार को चेतावनी दी है.

इस बार दिगंबर अखाड़े के प्रमुख महंत सुरेश दास ने इस मुद्दे पर सरकार को अल्‍टीमेटम देते हुए कहा कि सरकार राम मंदिर का फॉर्मूला 25 जनवरी तक तैयार करे. अगर ऐसा नहीं होता है तो इसके लिए आंदोलन किया जाएगा.

महंत सुरेश दास ने कहा है कि कुंभ में ही साधु-संत राम मंदिर निर्माण की तारीख तय करेंगे. उन्‍होंने कहा कि अगर कोर्ट और सरकार कुछ नहीं करती है तो जनता की कोर्ट के माध्यम से राम मंदिर बनेगा.

बता दें कि राम जन्मभूमि-बाबरी मस्जिद भूमि विवाद (अयोध्‍या विवाद) को लेकर दायर अपीलों पर शुक्रवार को सुप्रीम कोर्ट ने सुनवाई 10 जनवरी के लिए टाल दी है. सुप्रीम कोर्ट ने कहा है कि इस मामले के लिए नई बेंच का गठन किया जाएगा. 3 जजों की यह नई बेंच तय करेगी कि अयोध्‍या विवाद की रोजाना सुनवाई हो या नहीं.

चीफ जस्टिस रंजन गोगोई इस नई बेंच का गठन करेंगे. साथ ही सुप्रीम कोर्ट ने एक वकील की ओर से दायर की गई उस जनहित याचिका को भी खारिज कर दिया है, जिसमें अयोध्‍या विवाद की रोजाना और जल्‍द सुनवाई की मांग की गई थी.

1
Back to top button