महबूबा ने सेना द्वारा कथित रूप से एक मजिस्ट्रेट की पिटाई की निंदा की

चुनावी सभा के मौके पर पत्रकारों को संबोधित करते हुए बोली

श्रीनगर: दक्षिणी कश्मीर के अनंतनाग जिले में एक चुनावी सभा के मौके पर पत्रकारों को संबोधित करते हुए जम्मू-कश्मीर की पूर्व मुख्यमंत्री और पीपल्स डेमोक्रेटिक पार्टी (पीडीपी) की अध्यक्ष महबूबा मुफ्ती ने कहा कि कश्मीर में ‘जंगल राज’ लागू है. उन्होंने अनंतनाग में राजमार्ग पर सेना द्वारा कथित रूप से एक मजिस्ट्रेट की पिटाई की भी निंदा की.

उन्होने आगे कहा, “कश्मीर में कोई कानून मौजूद नहीं है. अपने कर्मचारियों के साथ एसडीएम की पिटाई, राजमार्ग बंद कर देना, जेलों में कैदियों को पीटा गया है, मुठभेड़ों के दौरान बरामद शवों को म्यूटिलेटे किया जा रहा है और केमिकल द्वारा जलाया जा रहा है.”

महबूबा ने कहा कि ऐसा नहीं लगता है कि जम्मू-कश्मीर के लोगों इस हिंदुस्तान को चुना था, जिसे शेख मुहम्मद अब्दुल्ला और महाराजा हरि सिंह ने विलय किया था. महबूबा ने कहा, “जिस देश में हम गए थे, वह सभी सिखों, मुस्लिमों और हिंदुओं के लिए बराबर था.”

उन्होंने कहा कि राजमार्ग पर नागरिक ट्रैफ़िक पर प्रतिबंध लगाने का आदेश तानाशाही से कम नहीं था. उसने अनंतनाग राजमार्ग पर सेना द्वारा कथित रूप से एक मजिस्ट्रेट की पिटाई की भी निंदा की. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और गृह मंत्री राजनाथ सिंह से स्पष्ट रूप से कहा था कि अगर बीजेपी जम्मू और कश्मीर राज्य के विशेष दर्जे के साथ छेड़छाड़ करती है तो पीडीपी के पास सरकार छोड़ने के अलावा कोई विकल्प नहीं होगा. महबूबा मुफ़्ती अनंतनाग के शंगस इलाक़े में एक चुनावी सभा को समभोतित कर रही थी.

Back to top button