हाईकोर्ट से किया आरोपों से मुक्त, नगर पालिका अध्यक्ष पद पर फिर से बहाल हुए महेश

तिल्दा नेवरा.

छत्तीसगढ़ उच्च न्यायालय के आदेश पर शासन ने तिल्दा नगर पालिका अध्यक्ष महेश अग्रवाल को अध्यक्ष पद पर फिर से बहाल कर दिया है। लगभग 2 माह पूर्व शासन ने नगर पालिका अध्यक्ष महेश अग्रवाल को गड़बड़ी करने के आरोप लगाकर पद से हटा दिया था।

बाद में अध्यक्ष महेश अग्रवाल ने अपने आप को बेगुनाह बताते हुए न्याय के लिए बिलासपुर हाईकोर्ट में गुहार लगाई थी। न्यायालय ने मामले की सुनवाई करते हुए महेश अग्रवाल को निर्दोष करार दिया और अग्रवाल को तत्काल नगर पालिका अध्यक्ष के पद पर पदभार ग्रहण कराने शासन को निर्देशित भी किया। शासन से मिले आदेश के बाद बुधवार को महेश अग्रवाल ने पदभार ग्रहण कर लिया।

हजारों समर्थकों के साथ रैली के रूप में पालिका पहुंचे

बुधवार को महेश अग्रवाल के द्वारा पदभार ग्रहण किए जाने की जानकारी जब उनके समर्थकों को हुई, हजारों की संख्या में समर्थक उनके निवास स्थान पर पहुंच गए। सुबह 11 महेश अग्रवाल पदभार ग्रहण करने वाले थे। लेकिन तेज बारिश होने के कारण वे लेट हो गए। दूसरी तरफ उनके समर्थक इस बात को लेकर अड़ गए कि वे उनके द्वारा निकाली जा रही रैली के साथ नगरपालिका तक चलें। अध्यक्ष की हामी भरने के बाद स्टेशन चौक दुर्गा मंदिर से डीजे और बैंड बाजे के साथ रैली निकाली गई।

रैली के पीछे 2 दर्जन से भी अधिक चार पहिया वाहन भी थे। रैली में शामिल युवक नाचते हुए महेश भैया जिंदाबाद के नारे लगाते हुए चल रहे थे। स्टेशन चौक से शुरू हुई रैली कपड़ा मार्केट गुरुनानक चौक, सिंधी पंचायत भवन, अग्रसेन चौक, गांधी चौक पहुंची। यहां जबरदस्त आतिशबाजी की गई।

यहां से रैली पुन: शुरू हुई और गुरु घासीदास चौक होते हुए नगर पालिका पहुंची। यहां महेश अग्रवाल का शहर के वरिष्ठ जनों ने पुष्पहार पहनाकर स्वागत किया और उन्हीं का आशीर्वाद लेकर उन्होंने पालिका जाकर पदभार ग्रहण किया। सीएमओ ने उन्हें शासन के आदेश एक प्रति प्रदान कर पदभार ग्रहण कराया।

मेरे समर्थकों के आशीर्वाद से न्यायालय से मुझे न्याय मिला

पदभार ग्रहण करते समय महेश अग्रवाल भावुक हो गए। उन्होंने कहा कि मैंने नगरपालिका को ईमानदारी के साथ चलाया। लेकिन शहर के कुछ छुटभैया जिनकी सत्ता में बैठे नेता थोड़ा बहुत सुन रहे हैं, उनके मेरे विरुद्ध कान भर कर मुझे हटवा दिया गया। दरअसल शहर की जनता ने जो मुझे जो प्यार दिया और ऐतिहासिक जीत दिलाई। न्यायालय ने मुझे न्याय देकर सिद्ध कर दिया है कि सत्य परेशान हो सकता है हार नहीं सकता।

Tags
Back to top button