मैत्री बाग केज की जाली तोड़ बाहर निकली सफेद बाघिन

भिलाई :बीएसपी के मैत्री गार्डन में शुक्रवार की शाम पांच बजे के करीब एक सफेद बाघिन केज की जाली तोड़कर बाहर आ गई। इस घटना के दौरान केज के बाहर और मैत्री बाग में पर्यटकों की खासी भीड़ थी, कुछ देर के लिए दहशत और भगदड़ की स्थिति बन गई थी। बाघिन केज के बाहर कुछ दूरी पर ही बैठी रही। जानकारी मिलते ही मैत्री बाग प्रबंधन ने घेराबंदी की। एक घंटे की मशक्कत के बाद बाधिन को वापस केज में लाया गया। इस पूरी घटना पर मैत्री बाग प्रबंधन ने चुप्पी साध ली है।

कैसे हुई पूरी घटना : 

जानकारी के अनुसार शुक्रवार को शाम पांच से सवा पांच बजे के बीच यह घटना हुई। मैत्रीबाग के भीतर चिडिय़ा घर में व्हाइट टाइगर के भीतर वाले केज से दो साल के बाघिन सोनम और सुल्तान को प्रबधन ने दो दिन पहले ही बाहर वाले केज में निकालना शुरू किया है। ऐसा पर्यटकों को देखने के लिहाज से किया गया।

बाहर वाले केज में हाईटेड मजबूत जाली लगाई गई है। इस केज में ही शाम को दोनों व्हाइट टाइगर थे। केज से करीब दो फीट की दूरी पर एक और ग्रील लगी है वहीं से पर्यटक खड़े होकर व्हाइट टाइगर के जोड़े को देख रहे थे। इसी दौरान बाघिन सोनम जाली से भीतर की केज की ओर चहलकदमी करते हुए बढ़ी। करीब दस कदम चलने के बाद ही बाघिन वापस मुड़ गई और जाली की ओर तेजी से बढ़ते हुए छलांग लगा दी।

टूटी जाली में देर तक फांसी रही बाघिन : 

बताया जाता है कि बाघिन की तेज छलांग को मजबूत जाली नहीं झेल पाई। एंगल जहां जाली को ज्वांइट किया गया था वहां से जाली लटक गई। बताया जाता है कि जाली में बाघिन सोनम की गर्दन फंस गई थी।

इसी स्थिति में वह कुछ देर तक लटकी रही। वहीं लोगों की जानकारी पर मैत्रीबाग के कर्मी वहां पहुंचे तो स्थिति देख उनके भी हाथ पैर फूल गए। आनन-फानन में उन्होंने मैत्री बाग के दोनों डॉक्टरों सहित उच्च प्रबंधन को घटना की जानकारी दी। इस दौरान बाघिन की गतिविधियों पर नजर रखी जा रही थी। इस दौरान ही किसी तरह बाघिन जाली से अलग होकर बाहर आ गई। 

बताया जाता है कि बाघिन केज से निकलने के बाद कुछ दूरी पर स्थित सांभर के केज के पास पहुंच गई। इसके बाद वह काफी देर तक आसपास ही मंडराती रही। इस दौरान मैत्रीबाग के कर्मियों ने उक्त क्षेत्र की घेराबंदी कर दी। वहीं चिडिय़ाघर वे बाहर मैत्रीबाग के मेनगेट को बंद कर दिया। मौके पर मैत्रीबाग के डॉक्टर एनके जैन व डॉक्टर एसके दुबे भी जंगली जानवर को बेहोश करने वाले गन के साथ पहुंच गए। 

पर्यटक ने बनाया मोबाईल पर वीडियो क्लिप :

बताया जाता है कि केज के बाहर पर्यटक गैलरी में खड़े पर्यटकों में से एक पर्यटक बकायदा मोबाइल पर बाघों की क्लिप बना रहा था। इस दौरान वहां पर एक दर्जन से भी अधिक लोग खड़े थे। बाघिन सोनम की हर गतिविधि इस क्लिप में कैद हुई है। भीतर केज की ओर जाने से लेकर बाहरी केज की जाली में फंसने तक की क्लिप इस वीडियो में है। 

बताया जाता है कि शाम होने की वजह से उस समय केज के आसपास व चिडिय़ा घर में कम पर्यटक ही थे। इनकी संख्या सौ से अधिक रही होगी। पहले केज के पास खड़े पर्यटक जान बचाकर भागे। कुछ महिलाएं और बच्चे गिर भी गए थे। इसके बाद पूरे चिडिय़ा घर में भगदड़ की स्थिति बन गई। इसके बाद बाहर मैत्रीबाग के गार्डन वाले क्षेत्र में भी वहीं हाल रहा। जानकारी के बाद मैत्रीबाग के कर्मियों ने पूरे मैत्रीबाग परिसर से पर्यटकों को बाहर निकाल गेट बंद कर दिया। 

सूत्रों का कहना है कि करीब एक घंटे तक बाघिन केज के बाहर रही। इस दौरान सांभर सिंह के केज की ओर गई। कुछ देर बाद उसी ओर सड़क किनारे बैठ गई। पीछे की ओर से मैत्रीबाग के कर्मियों ने मशाल की लौ दिखाकर घेराबंदी की तब जाकर बाघिन अपने केज के पास पहुंची। भीतर बाघ को देख वह भी केज में चली गई। 

Back to top button