विंग कमांडर पति के अंतिम संस्‍कार में 5 दिन की बेटी को गोद में ले पहुंचीं मेजर कुमुद डोगरा

अपने घर के किसी शख्स को हमेशा के लिए खो देने का दर्द हर किसी को बेहद गमगीन कर देता है। ऐसे में सोचिए हमारे देश की सेना के परिजन इस दौर का कैसे सामना करते होंगे। हाल ही में कुछ ऐसा नजारा देश के उत्तर पूर्वी राज्य असम में देखने को मिला।

विंग कमांडर पति के अंतिम संस्‍कार में 5 दिन की बेटी को गोद में ले पहुंचीं मेजर कुमुद डोगरा

अपने घर के किसी शख्स को हमेशा के लिए खो देने का दर्द हर किसी को बेहद गमगीन कर देता है। ऐसे में सोचिए हमारे देश की सेना के परिजन इस दौर का कैसे सामना करते होंगे। हाल ही में कुछ ऐसा नजारा देश के उत्तर पूर्वी राज्य असम में देखने को मिला।

यहां पर विंग कमांडर पति के अंतिम संस्कार के मौके पर अपने पांच दिन की बेटी को गोद में लेकर उनकी पत्नी पहुंचीं, जो कि खुद भी मेजर हैं। घटनास्थल पर किसी ने उनकी नवजात के साथ तस्वीर खींच कर इंटरनेट पर डाल दी, जिसके बाद वह सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल होने लगी।

लोगों ने महिला मेजर के जज्बे और साहस को सलाम करते हुए उसकी जमकर तारीफ की। तस्वीर में कुमुद अंतिम संस्कार के कार्यक्रम में जाते हुए दिख रही हैं। गोद में वह तौलिए में लिपटी अपनी बेटी को लिए हुए हैं। मे.कुमुद के साथ इस दौरान और लोग भी मौजूद थे। लोगों ने इसी पर महिला मेजर को सलाम किया और बेटी के प्रति उनके प्यार की तारीफ की।

बता दें कि 15 फरवरी को मजूली द्वीप के पास भारतीय वायु सेना का एक चॉपर हादसे का शिकार हो गया था। यह चॉपर दोपहर में रूटीन के अनुसार जोरहाट एयरबेस से उड़ा था। घटना में दो पायलटों की जान चली गई थी, जिसमें विंग कमांडर दुष्यंत व्यास भी थे।

हादसे के बाद चॉपर का मलबा घटनास्थल के पास देखा गया था, जिसके बाद जांच के आदेश दिए गए। अधिकारियों के अनुसार, चॉपर हादसा तकनीकी खामियों के कारण हुआ था।

बहरहाल, हाल ही में विंग कमांडर दुष्यंत की पत्नी और मेजर कुमुद डोगरा उनके अंतिम संस्कार पर अपनी वर्दी में पहुंचीं। मे.कुमुद के साथ इस दौरान गोद में उनकी पांच दिन की बेटी भी थी, जिसे उसके पिता देख भी नहीं सके।

Back to top button