मध्यप्रदेशराज्य

इंदौर में एक बार फिर बड़ी टैक्स चोरी बेनकाब, जीएसटी इंटेलिजेंस टीम ने की कार्यवाही

पान मसाला और तंबाकू के अवैध निर्माण, बिक्री और सप्लाई के एक बड़े रैकेट का भंडाफोड़

इंदौर: जीएसटी इंटेलिजेंस की भोपाल यूनिट और अप्रत्यक्ष कर और सीमा शुल्क विभाग द्वारा संयुक्त रूप से इंदौर और उज्जैन में 9 जून से 12 जून तक छापामार कार्रवाई के दौरान पान मसाला और तंबाकू के अवैध निर्माण, बिक्री और सप्लाई के एक बड़े रैकेट का भंडाफोड़ किया गया है.

भोपाल में सेंट्रल जीएसटी इंटेलिजेंस ने इस पूरी कार्रवाई की योजना बनाई थी और इसे ‘ऑपरेशन कार्क’ नाम दिया गया था. इस दौरान 9 महीने में बेचे गए पान मसाला और तंबाकू से कमाई गई राशि पर करीब 225 करोड़ रुपये की टैक्स चोरी का पता चला है.

विभाग को इस बात के भी सबूत मिले हैं कि 2 सालों की बिक्री को जोड़कर देखें तो ये टैक्स चोरी करीब 400 करोड़ रुपये तक जा सकती है. बयान में बताया गया है कि कोरोना महामारी के दौरान लगाए गए लॉकडाउन में अप्रैल और मई के दौरान बड़े पैमाने पर पान मसाला और तंबाकू की अवैध बिक्री और आपूर्ति की गई.

केंद्रीय जीएसटी इंटेलिजेंस और अप्रत्यक्ष कर और सीमा शुल्क विभाग के मुताबिक, छापेमारी में अवैध पान मसाला और तंबाकू बनाने के लिए रखा करीब 1 करोड़ 75 लाख रुपये का कच्चा माल, 15 मशीनें और अबतक अवैध माल की सप्लाई में लगे 10 ट्रकों को भी जब्त किया गया है.

बता दें कि इससे पहले भी 30 मई से 2 जून तक चली कार्रवाई में 18 करोड़ के करीब जीएसटी चोरी का पता लगा था. इस मामले में एक पाकिस्तानी नागरिक को भी गिरफ्तार किया गया था.

Tags
Back to top button