योजना का लाभ लेने किसान क्रेडिट कार्ड अवश्य बनवायें : महावर

- मनीष शर्मा

खेत, मेढ़ एवं तालाब पर फलदार वृक्ष लगाने दी समझाईश

जरहागांव में कृषि चौपाल का हुआ आयोजन

कृषकां को धान बीज व सब्जी मिनीकिट्स वितरित

मुंगेली : शासन की महत्वपूर्ण योजना नरवा, गरूवा, घुरूवा एवं बाड़ी का बेहतर क्रियान्वयन हेतु जिले में कृषि चौपाल का आयोजन किया जा रहा है। इसी कड़ी में आज जरहागांव में कृषि चौपाल का आयोजन किया गया। बिलासपुर संभाग के कमिश्नर टीसी महावर ने किसानों को संबोधित करते हुए कहा कि योजना का लाभ लेने किसान क्रेडिट कार्ड अवश्य बनवायें।

उन्होने खेत, मेढ़ में फलदार पौधे आम, जामुन, मुनगा, नीम एवं तालाबों में बरगद, पीपल पौधरोपण करें। उन्होने किसानों को सलाह देते हुए कहा कि फसल परिवर्तन के साथ-साथ जैविक खेती को बढ़ावा दें। नरवा, गरूवा, घुरूवा एवं बाड़ी योजना के अंतर्गत गौठान में गोबर गैस बनाने का कार्य भी करें। जिले में सब्जी उत्पादन और दुग्ध उत्पादन की संभावना निहित है। उन्होने कहा कि जल संवर्धन के लिए पानी रोकने एवं बचाने का कार्य प्राथमिकता से किया जाना चाहिए। पानी के बिना खेती संभव नहीं है।

कलेक्टर डॉ. सर्वेश्वर नरेंद्र भुरे ने कहा कि जिले में 1 लाख 65 हजार कृषक है। किसान क्रेडिट कार्ड से सिर्फ 30 हजार ही ऋण लेते है। उन्होने कहा कि शत प्रतिशत किसानों के पास किसान क्रेडिट कार्ड होना चाहिए। नरवा, गरूवा, घुरूवा एवं बाड़ी योजना के तहत जिले में 600 स्थानों में कृषि चौपाल लगाये जायेंगे। उन्होने बताया कि 25 मई से प्रथम चरण में कृषि चौपाल लगाने का काम शुरू हुआ है।

कलेक्टर ने किसानों से खेती बाड़ी एवं बैंको में लोन लेने में आने वाली समस्याओं के संबंध में जानकारी ली। कृषि चौपाल के दौरान कृषि विभाग के द्वारा किसानों को धान बीज और उद्यानिकी विभाग द्वारा सब्जी मिनीकिट्स का वितरण किया गया।

इस मौके पर पुलिस अधीक्षक सीडी टंडन, उप संचालक कृषि डीके ब्यौहार, सहायक संचालक उद्यान सीडी सिंह, सहकारी बैंक के नोडल अधिकारी संतोष ठाकुर, तहसीलदार अमित सिन्हा, नायब तहसीलदार पुलकित साहू सहित बड़ी संख्या में कृषकगण उपस्थित थे।

Back to top button