पहुंचविहीन ग्राम कोटोड़ी में मलेरिया मुक्त छत्तीसगढ़ अभियान का हुआ आगाज

कोण्डागांव, 17 जून 2021: 15 जून से जिले में मलेरिया मुक्त छत्तीसगढ़ अभियान के शुरूआत के बाद संपूर्ण जिले में अभियान त्वरित गति से चलाया जा रहा है। इसके तहत् बुधवार को कलेक्टर पुष्पेन्द्र कुमार मीणा के निर्देश पर मलेरिया सर्वेक्षण दल केशकाल विकासखण्ड के पहुंचविहीन ग्राम कोटोड़ी पहुंचा। इस दल के साथ मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ टीआर कुँवर, जिला कार्यक्रम प्रबंधक सोनल ध्रुव एवं आयुष नोडल डॉ सीबी वर्मा सहित धनोरा सीएचसी के स्वास्थ्य कर्मचारी भी कोटोड़ी पहुंचे। जहां दल द्वारा ग्राम के ग्रामीणों की घर-घर जा कर मलेरिया जांच की गयी साथ घरों के आस-पास पानी के जमाव के संबंध में निरीक्षण भी किया गया।

इस जांच के दौरान चार व्यक्तियों में मलेरिया पॉजेटिव पाया गया। इन सभी को मलेरिया की दवाईयों की प्रथम खुराक तत्समय शिविर स्थल पर ही दी गयी। ज्ञात हो कि 229 जनसंख्या वाले इस ग्राम में गतवर्ष मलेरिया जांच हेतु लगाये गये शिविर में 68 लोग मलेरिया संक्रमित पाये गये थे। जिसके पश्चात स्वास्थ्य विभाग द्वारा लगातार इस गांव में शिविरों का आयोजन किया जा रहा है।

शिविर में ग्रामीणों से चर्चा करते हुए सीएमएचओ ने कहा कि इस अभियान का मूल उद्देश्य मलेरिया के परजीवियों को पनपने के ही पूर्व रोका जाना एवं संक्रमितों का इलाज कर परजीवियों को मानव शरीर से भी खत्म करना है ताकि छत्तीसगढ़ को मलेरिया से निजात दिलायी जा सके।

इस अवसर पर जिला कार्यक्रम प्रबंधक एवं आयुष नोडल अधिकारी द्वारा लोगों को अपने के घरों के आस-पास सफाई रखने, पानी को जमा ना होने देने, मच्छरों के काटने से बचने के लिए ढ़के हुए कपड़े पहनने एवं रात में मच्छरदानी लगाकर सोने की हिदायत दी गयी साथ ही बताया गया कि मलेरिया परजीवियों को पनपने के पूर्व रोका जाना आवश्यक है एवं किसी भी प्रकार के लक्षण दिखाई देने पर रक्त जांच अवश्य करायें। मलेरिया जांच के लिए स्वास्थ्य विभाग के सभी संस्थानों को मलेरिया टेस्ट किट उपलब्ध करा दी गयी है। ग्रामीण स्वास्थ्य कर्मी प्रति दिन घर-घर जा कर अब मलेरिया की जांच करेंगें।

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button