फ्रांस में गर्मी से परेशान पुरुष ड्राइवर मजबूरी में स्कर्ट पहनकर चला रहे हैं बस

पूरा यूरोप गर्मी से पस्त और बेहाल है। इतनी गर्मी में भी कई दफ्तर अपने पुरुष कर्मचारियों से पैंट पहनकर आने को कह रहे हैं। कर्मचारी सहूलियत के लिए शॉर्ट्स पहनना चाहते हैं, लेकिन कंपनी इसके खिलाफ है। परेशान पुरुष कर्मचारियों ने विरोध के लिए एक अनोखा रास्ता चुना है। फ्रांस के नोट प्रांत में नाराज बस चालक शॉर्ट्स की जगह स्कर्ट पहनकर काम पर जा रहे हैं। ये कर्मचारी अपने साथ भेदभाव किए जाने का आरोप भी लगा रहे हैं। उनका कहना है कि महिलाओं को स्कर्ट पहनकर ऑफिस आने की इजाजत है, लेकिन पुरुषों के शॉर्ट्स पहनने पर पाबंदी है।

प्रेस ओशन की एक खबर के मुताबिक, फ्रांस के लेबर कोड ने शॉर्ट्स पर प्रतिबंध तो नहीं लगाया है, लेकिन शहर में जिस कंपनी की बसें चलती हैं उसे बस चालकों का शॉर्ट्स पहनना सही नहीं लगता। मंगलवार को कंपनी के इस फैसले का विरोध करने के लिए बस चालक स्कर्ट पहनकर काम पर पहुंचे। चालकों का कहना है कि ड्राइवर सीट पर बैठने के बाद वैसे भी कोई यात्री उन्हें नहीं देख पाता है। एक बस चालक ने स्थानीय न्यूज वेबसाइट को बताया, ‘हमारी यूनिफॉर्म इतनी ज्यादा गर्मी के अनुकूल नहीं है। इस भयंकर गर्मी में भी हमें पैंट पहनने को कहा जाता है। ऐसे में हमें महिलाओं के साथ जलन होती है। कंपनियों में स्कर्ट पर कोई प्रतिबंध नहीं है, इसीलिए हम लोग स्कर्ट पहनकर आए हैं।’ पुरुष बस चालक भेदभाव का भी आरोप लगा रहे हैं। एक चालक ने कहा, ‘यह भी एक तरह का भेदभाव है। महिला ड्राइवर्स स्कर्ट पहन सकती हैं, लेकिन पुरुष चालक शॉर्ट्स नहीं पहन सकते।’

एक अन्य बस चालक ने कहा, ‘इस गर्मी के कारण तापमान 50 डिग्री सेल्सियस के करीब पहुंच रहा है। बस में एयर कंडिशनर नहीं लगा होने के कारण इतनी गर्मी को बर्दाश्त कर पाना मुश्किल हो जाता है।’ गर्म हवा के थपेड़ों (हीटवेव) को 4 श्रेणियों में बांटा जाता है। मौसम विभाग की चेतावनी है कि इस साल भी अगस्त 2003 की तरह जानलेवा गर्म हवाएं चल सकती हैं। मालूम हो कि 2003 में गर्म हवाओं के कारण फ्रांस में 15,000 से ज्यादा लोगों की मौत हो गई थी। मरने वालों में ज्यादातर बुजुर्ग थे।

ब्रिटेन में जो नाम के एक युवा ने भी शिकायत की है कि शॉर्ट्स पहनकर जाने के कारण उसे ऑफिस से वापस घर भेज दिया गया। इससे झुंझलाकर जो ने एक गुलाबी रंग की ड्रेस खरीदी। मेल ऑनलाइन से बात करते हुए जो ने कहा, ‘शॉर्ट्स पहनने के कारण मुझे वापस घर भेज दिया गया और तमीज के कपड़े पहनकर आने को कहा गया, जबकि महिला कर्मचारी घुटने तक की ड्रेस पहन सकती हैं।’

जब जो अपनी ड्रेस पहनकर ऑफिस गए, तो वहां उन्हें बताया गया कि उनके विरोध के कारण अब दफ्तर ने शॉर्ट्स पहनने की इजाजत दे दी है। जो से कहा गया कि उनकी ड्रेस बहुत रंगीन है। उन्हें घर लौटकर कपड़े बदलने का विकल्प भी दिया गया, लेकिन जो पूरे दिन इसी गुलाबी ड्रेस में वहां काम करते रहे। पूरे यूरोप में गर्म हवा की लहर चल रही है। माना जा रहा है कि पुर्तगाल के जंगलों में लगी भयानकर आग के फैलने के पीछे भी यही कारण हो सकता है।

Back to top button