छत्तीसगढ़

डोंगरगढ़ में स्थित प्रसिद्ध प्रज्ञागिरी पहाड़ी पर बरामद हुआ नर कंकाल

आम लोगों की सुरक्षा के लिए ठोस प्रयास किये जाने की मांग

राजनांदगांव: छत्तीसगढ़ के डोंगरगढ़ में स्थित प्रसिद्ध प्रज्ञागिरी पहाड़ी पर एक कंकाल बरामद किया है| करीब छह से सात माह पुराने इस कंकाल को बरामद कर पुलिस ने क़त्ल की उस गुत्थी को फ़ौरन सुलझा दिया, जो इतने महीनों से रहस्मय बनी हुई थी|

दरअसल कातिल को भी उम्मीद ना थी कि वो चंद घंटों में ही जेल की हवा खाने वाला है| इस मामले में फौरी कार्रवाई कर पुलिस ने कातिल को ढूंढ निकाला| उधर इस घटना के उजागर होने के बाद प्रज्ञागिरी पहाड़ी पर आम लोगों की सुरक्षा के लिए ठोस प्रयास किये जाने की मांग भी शुरू हो गई है|

बताया जाता है कि प्रज्ञागिरी पहाड़ी पर प्रेमी- प्रेमिका ने कई घंटे बिताये| इस दौरान मौका पाते ही प्रेमी ने प्रेमिका का गला घोंट दिया | झाड़ियों में उसकी लाश ठिकाने लगाने के बाद वो बेफिक्र हो गया था | लेकिन कहा जाता है ना ‘कातिल कितना चालाक क्यों ना हो ? कुछ ना कुछ सुराग छोड़ ही जाता है|

इस मामले में भी कुछ ऐसा ही हुआ| नरकंकाल मिलने की सूचना के बाद सीएसपी मणिशंकर चंद्रा समेत कई अधिकारी प्रज्ञा गिरी पहाड़ी पर पहुँचे थे| इसके बाद पुलिस के एक दस्ते ने एक युवक को हथकड़ी लगाकर उस स्पॉट पर लाया, जहाँ नरकंकाल मिला था|

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button