माल्या बैंकों का पैसा लौटाने को तैयार, PM मोदी से कही ये बात…

नई दिल्ली: बैंकों को चुना लगाकर विदेश भागे किंशफिशर के मालिक ने गुरुवार को सोशल मीडिया प्लेटफार्म ट्विटर पर ट्वीट करके बैंको की बकाया राशि वापस करने को बात कही। क्योंकि ब्रिटेन के न्यालय माल्या को भारत वापस भेजने का फैसला सुना चुकी है। माल्या ने यह प्रतिकिया लोकसभा में प्रधानमंत्री मोदी के भाषण के बाद दी।

विजय माल्या ने अपने पहले ट्वीट में कहा, ‘प्रधानमंत्री मोदी ने कल संसद में जो आखिरी भाषण दिया उसे मैंने सुना। वह निश्चित तौर पर एक भावपूर्ण वक्ता हैं। मैंने नोटिस किया कि उन्होंने बिना नाम लिए एक शख्स का जिक्र किया जो 9,000 करोड़ रुपये लेकर भाग गया। मीडिया में कही गई बातों से मैं अंदाजा लगा सकता हूं कि उनका इशारा मेरी तरफ था।’

दूसरे ट्वीट में माल्या ने कहा, ‘मैं आग्रहपूर्वक प्रधानमंत्री से पूछना चाहता हूं कि वह बैंको को मुझसे पैसा लेने का आदेश क्यों नहीं दे रहे हैं। जबकि मैं जनता के पूरे पैसे चुकाने के लिए तैयार हूं जो किंशफिशर ने लिए थे।’

तीसरे ट्वीट में उन्होंने कहा, ‘मैंने बकाया राशि का भुगतान करने का ऑफर माननीय कर्नाटक हाईकोर्ट के सामने रखा है। इसे आप खारिज नहीं कर सकते हैं। यह पूरी तरह से वास्तविक, गंभीर, ईमानदार और तत्काल हासिल करने वाली पेशकश है। गेंद अब आपके पाले में है। आखिर बैंक वह पैसा वापस क्यों नहीं ले लेते जो उन्होंने किंशफिशर को दिया था?’

माल्या ने चौथे और आखरी ट्वीट में कहा, ‘मुझे मीडिया में आए ED के उस दावे को लेकर बातचीत करने में काफी पीड़ा हो रही है जिसमें कहा गया था कि मैंने अपनी संपत्ति छुपाई है। यदि मैंने संपत्ति छुपाई है तो मैं अदालत के सामने खुले तौर पर 14,000 करोड़ रुपये की संपत्ति कैसे रख सकता हूं? लोगों के बीच भ्रम फैलाया जा रहा है लेकिन यह चौंकाने वाला नहीं है।’

Back to top button