कुपोषण जांचने जवाहर वार्ड के आंगनबाड़ी केन्द्रों में मना वजन त्यौहार, शामिल हुए पार्षद

अभिभावकों को बच्चों के पोषण स्तर को जानकर उनके बेहतर स्वास्थ्य के लिए परिवार स्तर पर भी प्रयास करना होगा: नितेश वर्मा

बालोद: कुपोषण दूर करने समुदाय की प्रत्यक्ष भागीदारी के लिए महिला एवं बाल विकास विभाग द्वारा आंगनबाड़ी केन्द्रों में मुख्यमंत्री सुपोषण मिशन अंतर्गत वजन त्यौहार मनाया जा रहा है। नगरपालिका परिषद बालोद क्षेत्रान्तर्गत जवाहर वार्ड क्रमांक 11 के आंगनबाड़ियों में मुख्यमंत्री सुपोषण मिशन अंतर्गत मनायें जा रहे वजन त्यौहार में शामिल होकर जिला योजना समिति के सदस्य और पार्षद नितेश वर्मा ने बच्चों के सुपोषण की जानकारी ली।

क्लस्टर वार वजन त्यौहार के दौरान आंगनबाड़ियों में 0 से 5 वर्ष तक के सभी बच्चों का वजन लिया गया। वजन त्यौहार में सदस्य और पार्षद नितेश वर्मा के साथ आंगनबाड़ी क्रमांक 01 में कार्यकर्ता फिरोजा खान, सहायिका कुलसुम बी और आंगनबाड़ी क्रमांक 02 में कार्यकर्ता आशा पटेल,सहायिका गीता मंडावी के अलावा बच्चो के माता-पिता व वार्डवासी उपस्थित रहे।

मुख्यमंत्री सुपोषण मिशन अंतर्गत चल रहे वजन त्यौहार में आम-जनमानस को भागीदारी की अपील करते हुए सदस्य और पार्षद नितेश वर्मा ने कहा कि, कुपोषण के कारण बच्चों का विकास और उसका सम्पूर्ण जीवन प्रभावित होता है।

ऐसे में अभिभावकों को बच्चों के पोषण स्तर को जानकर उनके बेहतर स्वास्थ्य के लिए परिवार स्तर पर भी प्रयास करना चाहिए। कुपोषण एक बड़ी चुनौती है और इसको दूर करने के लिए सरकारें नियमित प्रयास कर रही है ताकि बच्चों में इसकी समय पर पहचान व देखभाल हो सके। आवश्यकता बस इस बात की है कि, इस नेक और जिम्मेदारी के कार्य में सभी की प्रत्यक्ष भागीदारी होनी चाहिए।

सदस्य और पार्षद नितेश वर्मा ने बताया कि, आंगनबाड़ी क्रमांक 01 में 0 से 5 वर्ष के 65 बच्चे है जिनमे मात्र 3 बच्चे मध्यम स्तर पर है बाकी 62 बच्चे सामान्य है। वही आंगनबाड़ी क्रमांक 02 के अंतर्गत 80 बच्चे है जिनमे सभी 80 बच्चे सामान्य स्तर पर है।

 

वजन त्यौहार के अवसर पर वजन के अलावा बच्चों की ऊंचाई, मध्य बांह की परिधि भी मापी गई। कुछ मध्यम स्तर के बच्चों के पोषण स्तर को जानकर उनके बेहतर स्वास्थ्य स्तर के लिए परिवार स्तर पर भी प्रयास करने की बात कही गई है।

Back to top button